गिरिडीह/ हजारीबाग, जागरण संवाददाता। विनोबा भावे विश्वविद्यालय के सिंडिकेट की बैठक बुधवार को कुलपति डॉ. मुकुल नारायण देव की अध्यक्षता में हुई। इस दौरान कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। बैठक में गिरिडीह में मेडिकल कॉलेज खोले जाने से संबंधित रंजीत राय के प्रस्ताव पर सैद्धांतिक स्वीकृति मिली। गिरिडीह में मेडिकल कॉलेज खोलने का सरकार का निर्णय है। अब तैयारी शुरू हो गई। वहा पर एक भी अच्छा अस्पताल नहीं है। मरीजों को इलाज के लिए धनबाद जाना पड़ता है। मेडिकल कॉलेज खुलने से इलाज की भी व्यवस्था होगी।

पीएचडी के लिए जारी होगी प्रवेश परीक्षा की अधिसूचना

बैठक के दौरान पंकज नेता के प्रस्ताव को वितरित करते हुए पीएचडी के लिए डीट (डाक्टरल एंटे्रस एलिजिबिलिटी टेस्ट) की परीक्षा आयोजित करने के लिए अविलंब अधिसूचना जारी करने का निर्णय लिया गया। साथ ही पीएचडी परिनियम 2009, 2016 व 2021 को अनुमोदित किया गया। वहीं कर्णपुरा कॉलेज के दानदाता के रूप में टुकेश्वर प्रसाद के नाम को अनुमोदित किया गया।

कई प्राध्यापकों को मिली प्रोन्नति

बैठक में कई प्राध्यापकों को प्रोन्नति देने के प्रस्ताव को भी स्वीकृति मिली। बोकारो के चास कालेज के अजीत रंजन बटवाल और श्रीकांत सिन्हा तथा हजारीबाग के मार्खम कालेज के डाक्टर सीपी दांगी को 10 वर्षीय कालबद्ध प्रोन्नति योजना के तहत व्याख्याता से उपाचार्य के पद पर प्रोन्नति देने की स्वीकृति मिली। इसी तरह गिरिडीह के राज धनवार में स्थित आदर्श कालेज के डा. सुशील कुमार ङ्क्षसह, जमुना प्रसाद ङ्क्षसह तथा बोकारो के चास कालेज के उपेंद्र श्रीवास्तव को उपाचार्य के पद पर प्रोन्नति देने की स्वीकृति मिली। इसी तरह डा. जटाधर दुबे सेवानिवृत्त उपाचार्य और केबी कॉलेज के सेवानिवृत्त प्रोफेसर डा. इंद्रजीत प्रसाद को विश्वविद्यालय आचार्य के पद पर प्रोन्नति देने की स्वीकृति प्रदान की गई। आदर्श कालेज के जटाशंकर ङ्क्षसह एसएसएलएनटी कालेज के कृष्णा मित्रा के प्रस्ताव को भी स्वीकृति मिली। बैठक में प्रति कुलपति डा. अजीत कुमार सिन्हा, डा. इंद्रजीत कुमार, डा. प्रकाश चंद्र देवघरिया, डा. मिथिलेश, डा. चंद्रशेखर ङ्क्षसह, डा. एलपी मिश्रा, डा. अजय मुरारी, डा. शारदा शर्मा, डा. रेखा रानी, डा. विमल रेवन, डा. जानी रुफीना, पंकज मेहता और रंजीत राय आदि उपस्थित थे।

इन प्रस्तावों पर भी निर्णय और चर्चा

बैठक के दौरान अभिषद सदस्य डा. चंद्रशेखर ङ्क्षसह के प्रस्ताव पर विश्वविद्यालय के अतिथि भवन तथा परिसर स्थित अन्य भवनों के रंग-रोगन के लिए निविदा आमंत्रित करने का निर्णय लिया गया। साथ ही उनके एक अन्य प्रस्ताव पर विमर्श कर विश्वविद्यालय कर्मचारी कल्याण कोष के परिनियमों को पुन: संशोधित कर इसे वित्तीय दृष्टि से शुद्ध करने का निर्णय लिया गया। इसके लिए शीघ्र ही शिक्षक एवं शिक्षकेतर के प्रतिनिधि बैठक कर अंतिम निर्णय ले सकेंगे। इसके अलावा डा. जानी रूफीना तिर्की के प्रस्तावों को स्वीकृत करते हुए विश्वविद्यालय मुख्य द्वार से यूएलसी तथा विनोदिनी तरवे पार्क के चारों ओर की सड़क के जीर्णोद्धार की स्वीकृति मिली। साथ ही पूर्व में संपन्न हुए नव शिक्षण समिति भवन समिति क्रय विक्रय समिति विद्वत परिषद के निर्णयों की संपुष्टि की गई। वित्त समिति के निर्णयों को आंशिक संशोधित करते हुए अनुमोदित किया गया।

Edited By: Mritunjay