धनबाद, जेएनएन। अपनी आर्थिक सेहत सुधारने के लिए रेलवे कई नुस्खे अपना रही है। खर्च में कटौती को लेकर मंत्रलय लगातार दबाव भी बना रहा है। यही वजह है कि रेलवे अब कम आमदनी वाले स्टेशन और हॉल्ट पर ट्रेनों का ठहराव बंद करने की तैयारी में है।

धनबाद-चंद्रपुरा रेल मार्ग के पांच हॉल्ट पर ट्रेनों का ठहराव को हाल में ही बंद करने का आदेश जारी कर दिया गया है। धनबाद रेल मंडल के सभी हॉल्ट और स्टेशन की समीक्षा शुरू हो गयी है। जिन जगहों पर यात्री न के बराबर हैं, उन्हें बंद कर दिया जाएगा। हालांकि, रेलवे के इस फैसले से उन यात्रियों को काफी परेशानी होगी, जो इन स्टेशनों और हॉल्टों से ट्रेन पकड़ते हैं।

एक ट्रेन के ठहराव में अमूमन 30 हजार का खर्च : रेलवे के एक्सपर्ट बताते हैं कि किसी हॉल्ट पर डीजल इंजन से चलने वाली एक ट्रेन के ठहराव में अमूमन 30 हजार का खर्च आता है। ट्रेन रोकने के लिए पहले से ही उसकी गति कम कर दी जाती है। ठहराव के बाद फिर से रफ्तार पकड़ने में समय भी लगता है। जितनी देर तक ट्रेन चलती है, उस ट्रैक का उपयोग दूसरी ट्रेन या मालगाड़ी के लिए नहीं हो पाता है।

सीआइसी सेक्शन के चुरकी हॉल्ट में बंद होगा ठहराव : धनबाद से भोपाल और जबलपुर जानेवाले रुट पर सीआइसी सेक्शन के चुरकी हॉल्ट पर ट्रेनों का ठहराव बंद करने का निर्णय लिया गया है। चोपन से सिंगरौली के बीच इस हॉल्ट पर तीन पैसेंजर ट्रेनें ठहरती हैं, पर यात्रियों की संख्या शून्य है।  

Posted By: Sagar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप