धनबाद, जेएनएन। झरिया के भागा 5 नंबर क्षेत्र से सोमवार को एक 13 वर्षीय छात्र के अपहरण का असफल प्रयास किया गया। ग्रामीणों के विरोध और तनाव के बीच बलियापुर के आमझर में कोरोना से मरने वालों के लिए श्मशान घाट का निर्माण किया जा रहा है। श्रावण मास की तीसरी सोमवारी पर धनबाद में भोले शंकर की पूजा की गई। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए धनबाद शहर में सैनिटाइजेशन अभियान शुरू किया गया। ठेका में एसटी को प्राथमिकता देने के सरकार के फैसले के विरोध में संवेदकों ने प्रर्दशन किया। 

अपहर्ताओं ने चंगुल से बच निकला छात्र

झरिया थाना क्षेत्र के भागा 5 नंबर के रहने वाले बीसीसीएल कर्मी उपेन्द्र पासवान का 13 वर्षीय नाती कक्षा 6 का छात्र देवराज कुमार का सोमवार की सुबह अपहरण कर लिया गया। हालांकि दोपहर बाद देवराज अपहर्ताओं के चंगुल से भाग निकला। उसके घर पहुंचने पर परिजनों ने राहत की सांस ली। अज्ञात के खिलाफ शिकायत दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है। छात्र के घर लाैटने के बाद परिजनों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने भागा 5 नंबर पहुंचकर छात्र से पूछताछ की। छात्र ने पुलिस को बताया कि सुबह 9 बजे पड़ोस के रहने वाले दूसरे छात्र को कापी देने जा रहा था तभी ओमनी पर सवार तीन व्यक्तियों द्वारा हमें उठा लिया गया। ओमनी में ड्राइबर के अलावे दो व्यक्ति और थे। सभी मुंह में गमछा बांधे हुए थे। हमें बनियाहिर ले जाकर रक्षा काली मंदिर के निकट एक घर में बंद कर दिया गया। मारपीट भी की। उसके बाद वो लोग खाना खाने गए। इस दाैरान मौका मिलते ही वहां से भाग निकले।

तनाव के बीच कोरोना से मरने वालों के लिए श्मशान का निर्माण

बलियापुर के आमझर मौजा में कोरोना से मृत देह की अंत्येष्टि के लिए चिह्नित जमीन पर धनबाद जिला प्रशासन द्वारा युद्धस्तर पर श्मशान निर्माण का काम किया जा रहा है। रविवार को ग्रामीणों और पुलिस के बीच संघर्ष के बाद काम बंद हो गया था। सोमवार को भारी पुलिस व्यवस्था के बीच निर्माण कार्य शुरू हुआ। दूसरी तरफ पुलिस ने विरोध करने वालों पर दबिश दी है। आमझर और आसपास के गांवों के मुखिया, पूर्व मुखिया को थाने में बुलाकर बैठा दिया गया है। इन लोगों को शाम पांच बजे तक थाना में ही रहने का निर्देश दिया गया। इनमें मुखिया संजय महतो, मनोज सिंह, संतोष रवानी, पूर्व मुखिया कन्हाई बनर्जी, रफीक अंसारी शामिल हैं। पुलिस की इस कार्रवाई से स्थानीय लोगों में आक्रोश है। वे रविवार को ग्रामीणों पर पुलिस लाठीचार्ज के बाद सहम गए हैं। जिले में जहां-जहां भी स्थापित श्मशान घाट हैं वहां पर कोरोना से मरने वालों का अंतिम संस्कार के दाैरान विरोध का सामना करना पड़ा है। इसके बाद प्रशासन ने आमझर में एक अलग श्मशान घाट और कब्रिस्तान बनाने का निर्णय लिया है। लेकिन यहां भी विरोध हो रहा है।

तीसरी सोमवारी पर शिवालयों में हुई भोले शंकर पूजा
श्रावण मास की तीसरी सोमवारी को धनबाद के शिवालयों में  पूजा-अर्चना की गई। वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव को लेकर मंदिर बंद हैं। हालांकि कई मंदिर खुले दिखे। मंदिरों में शारीरिक दूरी का पालन करते हुए भक्तों का विशेष महत्व है। भक्तों ने अपने-अपने घरों के छोटे शिव लिंग को स्थापित कर जलाभिषेक और पूजन किया। शहर के धीरेंद्रपुरम, बेकारबांध, भुईफोड़ मंदिर के बाहर भक्तों की भीड़ दिखी। कई मंदिरों के दरवाजे पर ही भक्तों ने भगवान शिव को जल अर्पित किया। 

समाहरणालय सहित सरकारी, गैर सरकारी भवनों को किया गया सैनिटाइज

कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण के रोकथाम के लिए उपायुक्त उमा शंकर सिंह के निर्देश पर नगर निगम ने सोमवार को समाहरणालय सहित सभी सरकारी व गैर सरकारी कार्यालयों में सैनिटाइजेशन आरंभ किया। नगर निगम के नगर प्रबंधक शब्बीर आलम, रणधीर कुमार वर्मा तथा स्वच्छता पर्यवेक्षक शुभम कुमार जयसवाल के नेतृत्व में समाहरणालय, रणधीर वर्मा चौक से लेकर कोर्ट रोड पर सोडियम हाइपोक्लोराइट का छिड़काव किया गया। नगर प्रबंधक शब्बीर आलम ने बताया कि उपायुक्त के साथ नगर निगम की हुई बैठक में उपायुक्त द्वारा प्राप्त निर्देश के आलोक में नगर निगम द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने हेतु सार्वजनिक स्थानों पर सैनेटाइजेशन अभियान चलाकर भीड़ वाले इलाके में केमिकल का छिड़काव किया जा है। उन्होंने बताया सभी 55 वार्डो में सैनेटाइजेशन के लिए चार हजार लिटर क्षमता के पांच टैंकर को लगाया गया है। दो दिनों के अंतराल पर हर क्षेत्र को सेनेटाइज किया जाएगा।

जातिगत आधार पर संविदा का संवेदकों ने किया विरोध

झारखंड की हेमंत सरकार ने लोक निर्माण में 25 करोड़ तक के ठेके में एसटी को प्राथमिकता देने का निर्णय लिया है। इसका संवेदक विरोध कर रहे हैं। धनबाद के संवेदकों ने सोमवार को बेकारबांध में विरोध प्रदर्शन किया। उनका कहना था कि ठेके में जातिगत आधार को प्राथमिकता देना गलत है। इससे जातिवाद को बढ़ावा मिलेगा। ठेका किसी के नाम से आवंटित होता और कार्य कोई और करेगा। इससे कार्य की गुणवत्ता भी प्रभावित होगी। संवेदकों ने उपायुक्त के माध्यम से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को मांग पत्र साैंपा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस