धनबाद, जेएनएन। धनबाद के पूर्व सांसद एके राय का पूरे राजकीय सम्मान के साथ सोमवार को दामोदर नदी के मोहलबनी घाट पर अंतिम संस्कार संपन्न हुआ। वज्रपात से रेलवे से जूनियर इंजीनियर जावेद कमर की माैत। जेल में बंद विधायक संजीव सिंह ने झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र में लिया भाग। अब अंचल कार्यालय से निर्गत किए जाएंगे स्थानीय निवासी प्रमाण पत्र। धनबाद रेलवे स्टेशन को मिला पर्यावरण प्रबंधन में आइएसओ का प्रमाण पत्र।

पंचतत्व में विलीन हुए धनबाद के पूर्व सांसद एके राय

गगनभेदी लाल सलाम के नारों के बीच मार्क्सवादी समन्यव समिति के संस्थापक धनबाद के पूर्व सांसद एके राय उर्फ राय दा सोमवार को पंचतत्व में विलीन हो गए। दामोदर नदी के मोहलबनी घाट पर पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। मुखाग्नि राय दा के छोटे भाई तापस कुमार राय ने दी। इस माैके पर झारखंड सरकार के प्रतिनिधि के ताैर पर राजस्व मंत्री अमर बाउरी उपस्थित थे। इससे पहले सोमवार सुबह नाै बजे धनबाद के टेंपल रोड स्थित एमसीसी कार्यालय से राय की अंतिम यात्रा निकली। फूलों से सजाए गए वाहन पर राय का पार्थिव शरीर रखा गया था। वाहन के पीछे-पीछे हजारों लोग-राय दा अमर रहे, राय दा को लाल सलाम, जैसे नारे लगाते हुए चल रहे थे। राय का सोमवार को 85 वर्ष की उम्र में निधन हो गया था।

वज्रपात से रेलवे के जेई की माैत

धनबाद रेल मंडल के पारसनाथ और चेगड़ो स्टेशन के बीच वज्रपात से सोमवार को जूनियर इंजीनियर जावेद कमर की माैत हो गई। जबकि दो कर्मचारी गंभीर रूप से घायल हैं। जेई जावेद कमर और कर्मचारी पारसनाथ पीडब्ल्यूआइ के तहत कार्यरत थे। इसी दाैरान वज्रपात हुआ। सभी घायलों को इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल ले जाया गया। इलाज के क्रम जेई जावेद कमर की मृत्यु हो गई।

विधायक संजीव सिंह ने विधानसभा सत्र में लिया भाग

धनबाद जेल में बंद झरिया के विधायक संजीव सिंह ने सोमवार को झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र में हिस्सा लिया। अदालत के आदेश पर भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच सोमवार सुबह धनबाद जेल से संजीव सिंह को रांची ले जाया गया। वहां विधानसभा सत्र में हिस्सा लेने के बाद पुनः भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच धनबाद जेल पहुंचा दिया गया। 27 जुलाई तक विधानसभा का सत्र निर्धारित है।

अंचल कार्यालय से निर्गत होंगे स्थानीय निवासी प्रमाण पत्र

झारखंड का स्थानीय निवासी प्रमाण पत्र निर्गत करने के लिए अब अंचल अधिकारियों को भी प्राधिकृत कर दिया गया है। इस बाबत धनबाद जिला प्रशासन ने सभी अंचल अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिया है। झारखंड में स्थानीय नीति लागू होने के बाद सिर्फ अनुमंडल स्तर से ही स्थानीय प्रमाण पत्र निर्गत हो रहा था। इस दाैरान होने वाली परेशानियों को दूर करने के लिए पिछले दिनों सरकार ने अंचल स्तर पर प्रमाण पत्र निर्गत करने का निर्णय लिया। इस बाबत सरकार के अपर मुख्य सचिव केके खंडेलवाल के सभी उपायुक्तों को आदेश जारी किया था। निर्देशानुसार अंचल अधिकारी के स्तर से निर्गत स्थानीय निवासी प्रमाण पत्र सभी कार्यों, प्रयोजनों के लिए मान्य होंगे।साथ ही यह प्रमाण पत्र धारक के जीवन काल तक सभी कार्यों के लिए मान्य होगा।

धनबाद रेलवे स्टेशन को मिला आइएसओ प्रमाण पत्र

धनबाद स्टेशन को पर्यावरण प्रबंधन के लिए EISO CERTIFICATE दिया गया है। इसके साथ ही धनबाद रेलवे स्टेशन ISO CERTIFICATE प्राप्त करने वाला झारखंड का पहला स्टेशन बन गया है। धनबाद रेलवे स्टेशन प्रबंधन के अनुसार स्टेशन परिसर, वेटिंग हॉल, रिटायरिंग रूम, रिफ्रेशमेंट एरिया वगैरह में स्वच्छता व स्वास्थ्यप्रद माहौल के लिए यह प्रमाणपत्र मिला है। स्टेशन पर सॉलिड वेस्ट को अलग-अलग जमा करने, प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने और ऊर्जा दक्षता में एलईडी की व्यवस्था को भी उन वजहों में जोड़ा गया है, जिसके कारण प्रमाणपत्र प्रदान किया गया है। धनबाद जंक्शन स्टेशन ए-वन श्रेणी में शुमार है जहां से दर्जनों ट्रेनों का संचालन होता है। इस स्टेशन से प्रतिदिन 20 हजार से अधिक यात्री सफर करते हैं।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस