धनबाद, जेएनएन। जोहर जन आशीर्वाद यात्रा के तहत मुख्यमंत्री रघुवर दास ने धनबाद में चुनाव प्रचार का शंखनाद कर दिया। सीएम ने विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा कि महागठबंधन भ्रष्ट पार्टियों का जमावड़ा है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने धनबादवासियों को मुफ्तखोरी छोड़ने की नसीहत भी दी। इधर, पूर्व सीएम बाबूलाल ने कहा कि आयुष्मान भारत का लाभ मरीजों के बजाय बीमा कंपनियों और निजी अस्पतालों को मिल रहा है। पिछले 10 माह के अंतराल में धनबाद में घटित कई बड़ी आपराधिक घटनाओं का पुलिस खुलासा करने में विफल रही है।

रघुवर ने किया चुनाव प्रचार का शंखनाद

जोहर जन आशीर्वाद यात्रा के तहत मुख्यमंत्री रघुवर दास ने धनबाद जिले में चुनाव प्रचार का शंखनाद कर दिया है। मुख्यमंत्री रघुवर दास बुधवार को झारखंड में भाजपा के लिए सबसे टफ निरसा विधानसभा के रण में उतरे। निरसा में आज तक भाजपा को सफलता नहीं मिली है। हेलिकॉप्टर से निरसा के जूनकूदर स्थित ब्रह्ममैदान में उतरने के बाद मुख्यमंत्री का जोरदार स्वागत किया गया।

भ्रष्ट पार्टियों का जमावड़ा है महागठबंधन

मुख्यमंत्री ने जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्र और राज्य सरकार की उपलब्धियां गिनाई। साथ ही जनता से निरसा विधानसभा सीट भाजपा की झोली में डालने का आह्वान किया। उन्होंने महागठबंधन को भ्रष्ट पार्टियों का जमावड़ा करार देते हुए उसमें शामिल निरसा से एमसीसी विधायक अरूप चटर्जी पर भी हमला बोला।

सीएम ने की मुफ्तखोरी छोड़ने की नसीहत भी

मुख्यमंत्री ने धनबाद को नेशनल पावर ग्रिड सब स्टेशन की सौगात दी। इस दौरान भितिया पंचायत की मुखिया सलमा बीवी ने मुख्यमंत्री रघुवर दास से मुफ्त में बिजली के लिए मांग पत्र सौंपा। सलमा ने सीएम से कहा कि कांग्रेस ने मुफ्त में बिजली देने का वादा किया था। इसपर रघुवर दास ने कहा कि कांग्रेस ने मुफ्तखोरी की आदत डाल दी है। उन्होंने कहा- मैं झूठा वादा नहीं करता। क्वालिटी बिजली चाहिए तो पैसा देना ही होगा।

आयुष्मान भारत का लाभ मरीजों के बजाय बीमा कंपनियों और निजी अस्पतालों को

जनादेश यात्रा पर धनबाद पहुंचे जेवीएम प्रमुख व पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने स्वास्थ्य सेवा को लेकर भाजपा सरकार पर हमला बोला। कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी और राज्य की रघुवर सरकार सिर्फ घोषणाएं कर रही हैं। झारखंड में स्वास्थ्य सेवा बदहाल है। प्राथमिक और सदर अस्पतालों की कौन पूछे मेडिकल कॉलेजों में भी मरीजों को दवा और सही चिकित्सा सुविधा नहीं मिल रही हैं। उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत का लाभ मरीजों के बजाय बीमा कंपनियों और निजी अस्पतालों को मिल रहा है।

अपराधियों का चक्रव्यूह भेदने में चूक रही धनबाद पुलिस

पिछले दस माह के अंतराल में धनबाद में घटित कई बड़ी आपराधिक घटनाओं का पुलिस खुलासा करने में विफल रही है। चाहे वह सरायढेला में जमीन कारोबारी समीर मंडल की हत्या का मामला हो या फिर सरायढेला में बैंक ऑफ इंडिया में हुई डकैती की घटना। धनबाद की कई बड़ी आपराधिक घटनाएं अनुसंधान के नाम पर काफी दिनों से लंबित पड़ी हैं। कई कांडों में अपराधियों को पकडऩा तो दूर पुलिस घटना का कारण भी नहीं जान पाई है। हालांकि, कुछ मामले में पुलिस ने एक दो संदिग्धों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है, लेकिन उन घटनाओं का स्पष्ट रूप से खुलासा अब तक नहीं हो पाया है।

Posted By: Sagar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस