जागरण संवाददाता, धनबाद : जिले में कोरोना की रफ्तार तेजी से बढ़ने लगी है। हर दिन काफी तादाद में लोग संक्रमित हो रहे हैं। फिलहाल मरीजों को एसएनएमएमसीएच के कैथ लैब पीजी ब्लाक, रेलवे अस्पताल और सेंट्रल अस्पताल में भर्ती कराए जाने लगे हैं। वहीं, 25 मरीजों को होम आइसोलेशन की सेवा दी गई है। अब इसे देखते हुए जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की ओर से परिसदन में टेलीमेडिसिन सेवा शुरू करने का निर्णय लिया है। यह सेवा मंगलवार से काम करने लगेगी। इसके लिए सोमवार को डाक्टरों की प्रतिनियुक्ति की गई है। वार्ड के मरीज और होम आइसोलेशन के मरीजों को मिलेगी मदद

टेलीमेडिसिन के माध्यम से वार्ड में रह रहे मरीज सीधे परिसदन में बैठे चिकित्सक से संपर्क कर सकते हैं। टेलीमडिसिन में 24 घंटे डाक्टरों की सेवा रहेगी। यहां पर मरीज अपनी बीमारियों के बारे में बताएंगे, वहीं वीसी के जरिए परिसदन में बैठे चिकित्सक इसके निदान के बारे में कहेंगे। इसके साथ ही दवा के बारे में बताया जाएगा। पूरा सिस्टम जिला प्रशासन से भी जुड़ा रहेगा। उपायुक्त संदीप सिंह अपने कार्यालय में बैठकर टेलीमेडिसिन से जुड़ सकते हैं और इसकी समीक्षा कर सकते हैं। भारी संक्रमण को देखते हुए स्थापित किए गए थे टेलीमेडिसिन सेंटर

कोरोना की पहली लहर के दौरान अगस्त और सितंबर 2020 में उपायुक्त उमाशंकर सिंह ने परिसदन में टेलीमेडिसिन सेवा शुरू कराई थी। इसके तहत जिले में बनाए गए आठ कोविड सेंटर भर्ती मरीजों को टेलीमेडिसिन सेवा के माध्यम से परिसदन में बैठे चिकित्सक सलाह देते थे। दूसरी लहर में इससे मरीजों को काफी राहत मिली थी, खासकर होम आइसोलेशन में रहनेवाले मरीजों को काफी फायदा हुआ था।

Edited By: Jagran