धनबाद, जेएनएन। Suspected coronavirus patient died in PMCH पीएमसीएच के आइसोलेशन वार्ड में शनिवार की शाम कोरोना का एक संदिग्ध मरीज इलाज के अभाव में तड़प कर मर गया। सांस लेने में तकलीफ और सीने में दर्द के बाद मरीज की तिमारदारी में लगे परिजन इलाज के लिए नर्स और डॉक्टरों का इंतजार करते रहे। डॉक्टर को फोन पर भी सूचना दी लेकिन कोई देखने के लिए नहीं आया। आधे घंटे तक मरीज तड़पता रहा। अंततः उसने दम तोड़ दिया। मरीज के परिजनों ने माैत के लिए लापरवाही को जिम्मेवार ठहराया है। 

धनबाद के जगजीवन नगर के रहने वाले 45 वर्षीय सुदर्शन रजक को दो दिन पहले पीएमसीएच में कोरोना जांच कराई थी। इसके बाद आइसोलेशन वार्ड में भेज दिया गया था। वह आइसोलेशन वार्ड में रहकर अपनी जांच रिपोर्ट आने का इंतजार कर रहे थे। शुक्रवार की शाम अचानक तबीयत बिगड़ गई। करीब आधे घंटे तक सीने में दर्द और सांस लेने की तकलीफ से तड़पते रहे। इस दाैरान सूचना के बाद भी देखने के लिए न डॉक्टर पहुंचे और न ही नर्स। नर्स को सूचना दी गई तो उनका कहना था कि अभी डॉक्टर नहीं हैं। वार्ड के एक मरीज ने डॉक्टर के नंबर फोन कर मामले की जानकारी दी तो डांट सुननी पड़ी। डॉक्टर ने खीर-खोटी सुनाते हुए कहा कि मेरा मोबाइल नंबर कहां से मिला? इसके बाद मरीज के परिजन नाराज हो गए। हंगामा किया। 

हंगामा के बाद पीएमसीएच के अधीक्षक डॉ. एके चाैधरी ने मामले की जानकारी ली। हालांकि उन्होंने ने लापरवाही से इन्कार किया है। उन्होंने कहा कि डॉक्टर लगातर ड्यूटी पर लगे हैं। दूसरी तरफ मरीज की माैत के बाद शव को पीएमसीएच में रखा गया है। कोरोना जांच रिपोर्ट आने के बाद शव को परिजनों को साैंपा जाएगा।

 

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस