धनबाद, जेएनएन। मधुमेह महामारी का रूप लेता जा रहा है। जिससे पूछिए वह खुद को परेशान और पीड़ित बताता है। बचने के लिए क्या खाएं और क्या न खाएं हमेशा सोचते रहता है। अब टेंशन लेने की बात नहीं है। क्योंकि वैज्ञानिकों ने सुपर फूड का अध्ययन किया है। इसे खाकर मधुमेह को काबू रखा जा सकता है। यह दावा है रिसर्च सोसाइटी फॉर स्टडी ऑफ डायबिटिज इन इंडिया से जुड़े डॉ.एनकेसिंह का।

मधुमेह जागरूकता को लेकर बुधवार को धनबाद एक्शन ग्रुप व रिसर्च सोसाइटी फॉर स्टडी ऑफ डायबिटिज इन इंडिया (आरएसएसडीआइ) की ओर शहर में रन फॉर डायबिटिज का आयोजन किया गया। रणधीर वर्मा चौक के पास डॉ एनके सिंह ने मधुमेह के डायट व व्यायाम पर ध्यान रखने की बात कही। कहा कि मधुमेह के लिए सुपर फूड का विशेषज्ञों ने अध्ययन किया है। इसमें बीट, गाजर, टमाटर, अनार, तिसी, बादाम, बंदागोभी फायदे मंद हैं। इसके साथ रोज महज एक घंटे चलने से भी इस पर काबू पाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि अध्ययनों में पाया गया है कि केवल चलने से ही कई बीमारियों पर काबू पाया जा सकता है। मधुमेह के लिए यह रामबाण की तरह है।

डॉ लीना सिंह ने कहा कि सुपर फूड अपना कर अब मधुमेह पर काबू पा सकते हैं। दरअसल, भारतीय भोजन काफी संतुलित व बेहतर है। लेकिन अब पश्चिमी भोजन को अपना कर असल में इन बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं। जरूरी है कि फास्ट फूड, जंक फूड, शीतल पेय आदि से परहेज करें। यहां उपस्थित लोगों को सुपर फूड खिलाया भी गया। इसके बाद रणधीर वर्मा चौक से लेकर रांगाटांड़ कर रन फॉर डायबिटिज हुआ। इस माैके पर लोगों को सुपर फूड खिलाया भी गया। मौके पर डॉ लीना सिंह, रवि श्रीवास्तव, धीरज कुमार, रमेश गांधी, सकील अहमद, अजीत कुमार आदि मौजूद थे। 14 को रागांटांड़ में ब्लू बैलून लगाकर लोगों को जागरूक किया जायेगा।

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस