मुराईडीह के कोलियरी प्रबंधक को ग्रामीणों ने पीटा

बरोरा : बरोरा क्षेत्र की मुराईडीह परियोजना के कार्यस्थल पर सोमवार को दो लोगों ने कोलियरी प्रबंधक यशवंत सिंह राजपूत पर जानलेवा हमला कर दिया। हमले में यशवंत सिंह राजपूत के साथ मारपीट कर कपड़े फाड़ दिए और उनका चश्मा तोड़ दिया। मारपीट में यशवंत को हल्की चोट आईं है। उनका इलाज बाघमारा अस्पताल में चल रहा है। घटना को लेकर यशवंत ने बरोरा थाने में जोगीडीह निवासी खेलू महतो और कुश महतो के खिलाफ शिकायत की है। उन्होंने कहा है कि सोमवार को शाम साढ़े तीन बजे मुराईडीह परियोजना के फोर ए पैच में ब्लास्टिंग कार्य का निरीक्षण कर रहे थे। इस दौरान खेलू महतो व कुश महतो आए और कार्यस्थल को अपनी जमीन पर होने का दावा करते हुए ब्लास्टिंग करने से रोक कर लाठी से हमला बोल दिया। दोनों ने गला दबाकर जान मारने की कोशीश की। इसके साथ गालीगलौज करते हुए कपड़े फाड़ दिए व चश्मा तोड़ दिया। यशवंत सिंह की शिकायत पर बरोरा थाने की पुलिस तत्काल घटनास्थल पर पहुंची और मामले की जांच की।

इस घटना के बाद आधा दर्जन अधिकारी बरोरा थाना पहुंचे और दोषियों को गिरफ्तार करने की मांग की। यशवंत सिंह पर हुए जानलेवा हमले से न सिर्फ बरोरा क्षेत्र के अधिकारियों में रोष देखी जा रही है बल्कि बीसीसीएल के अधिकारियों के संगठन ने भी इसे गंभीरता से लिया है। अधिकारी अपने संगठन के वरीय अधिकारियों के साथ बातचीत कर आगे की रणनीति तैयार कर रहे हैं। मालूम हो कि इसी पैच में 4 मई को सीनीयर ओवरमैन महादेव चौधरी पर जानलेवा हमला किया गया था। इस संबंध में थाने में मामला दर्ज किया गया था। मामले में कुछ नतीजा सामने आता तब तक दूसरी घटना ने अधिकारियों के मनोबल को झकझोर कर रख दिया है। घटना को लेकर अधिकारी काफी भयभीत हैं।

शिकायत मिली है। मामले की जांच की जा रही है। जांच के बाद विधिसम्मत कारवाई की जाएगी।

शरद कुमार, थाना प्रभारी, बरोरा

मामला गंभीर है। अधिकारी अपने को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। ऐसे में अधिकारी कैसे काम कर पाएंगे। आए दिन अधिकारियों पर हमले हो रहे हैं। हमलोग पुलिस प्रशासन से सुरक्षा की गुहार लगाएंगे। साथ ही कड़ी कारवाई हो इसके लिए संगठन की बैठक कर निणर्य लिया जाएगा

उत्सव कुमार, अध्यक्ष, सीएमओआइ (बरोरा शाखा)

जिन लोगों ने हमारे आफिस के साथ मारपीट की है उनकी जमीन वहां है ही नहीं। फिर भी उन लोगों ने जमीन का दावा करते हुए ब्लास्टिंग कार्य रोक हमारे आफिस के साथ मारपीट कर सरकारी काम करने से रोका। इस पर पुलिस प्रशासन कठोर कार्रवाई करे।

एके दत्ता, परियोजना पदाधिकारी, मुराईडीह

Edited By: Jagran