धनबाद, जेएनएन  : गोमो रेलवे स्टेशन को जोड़ने वाली सड़क निर्माण में जिस बालू के इस्तेमाल की तैयारी चल रही थी। उस पर स्थानीय लोग और विधायक प्रतिनिधि लगातार सवाल उठा रहे थे। दैनिक जागरण ने उनके सवालों को उठाया और मामला डीआरएम तक पहुंच गया। बिना देर किए डीआरएम ने बालू की जांच करा दी। अब जो जांच रिपोर्ट आई है उसने सड़क निर्माण करने वाले ठेकेदार को बड़ी राहत दे दी है। रेलवे की परीक्षा में बालू पास हो गया है और उसे सौ में से 100 अंक मिले हैं।

गोमो में दशकों से ओवरब्रिज निर्माण की मांग चल रही थी। रेलवे की लोगों की मांग पूरी कर दी। पिछले महीने से ओवरब्रिज पर गाड़ियां भी दौड़ने लगीं। पर ओवरब्रिज से उतरते ही जर्जर सड़क से सामना होता है जो सीधी गोमो रेलवे स्टेशन तक जाती है। आवागमन को बेहतर बनाने के लिए रेलवे ने सड़क मरम्मत की भी अनुमति दे दी। सड़क की मरम्मत के लिए जो सामग्री लाए गए उस पर विधायक प्रतिनिधि, पूर्व मुखिया समेत स्थानीय लोगों ने सवाल उठाना शुरू कर दिया। उनका आरोप था कि सड़क की मरम्मते लिए लाया गया बालू गुणवत्तायुक्त नहीं है। मामले को दैनिक जागरण ने उठाया और लोगों ने जागरण की खबर को ट्विटर पर शेयर भी किया। डीआरएम ने मामले को गंभीरता से लेकर एडीआरएम इंफ्रा अशोक कुमार से जांच कराई। जांच में बालू सही पाया गया। अब एक-दो दिनों में सड़क मरम्मत का काम भी शुरू हो जाएगा।

वर्जन

"सड़क निर्माण के लिए इस्तेमाल होनवाले बालू की टेस्ट रिपोर्ट आ गई है। रिपोर्ट में बालू में किसी तरह की गड़बड़ी नहीं पाई गई है। भविष्य में अगर कहीं से भी ऐसी शिकायत मिलती है तो फौरन जांच कराई जाएगी।"

 -आशीष बंसल, डीआरएम, धनबाद रेल मंडल

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप