जासं,धनबाद: धनबाद में इन दिनों मोबाइल चोरी की घटनाएं बढ़ी हुई है। पिछले तीन माह में मोबाइल चोरी की 70 से अधिक मामले दर्ज किए गए है। बाजार में खुलेआम मोबाइल चोरी की घटना को अंजाम दिया जा रहा है। लोकल गैंग हो या साहिबगंज का तीन पहाड़ गैंग चोरी का मोबाइल बंगाल के रास्ते के जरीए

बांग्लादेश पहुंच रहा है। पुलिस अधिकारियों की मानें तो साहिबगंज के तीन पहाड़ी गैंग के पकड़े गए सदस्यों ने कई खुलासे किए है। जिसे सुनकर पुलिस के भी कान खड़े हो गए है।

कम उम्र के बच्चों से करवायी जाती है चोरी: साहिबगंज तीन पहाड़ के गैंग के सदस्य मोबाइल चोरी करने के लिए कम उम्र के बच्चों का इस्तेमाल करते है। स्टीलगेट, पार्क मार्केट, पुराना बाजार में मोबाइल चोरी करते कई बच्चे पकड़े गए है। पुलिस पुछताछ में इन लोगों ने इसका खुलासा भी किया है। एसएसपी संजीव कुमार से बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि बच्चों को मोबाइल चोरी करने वाले गैंग में इसलिए शामिल किया जाता है कि उन पर लोग शक नहीं करते है। पकड़े जाने के बाद उनकी पिटाई भी पब्लिक के द्वारा ज्यादा नहीं की जाती है।

फरक्का भेज दिया जाता है मोबाइल: साहिबगंज का गैंग धनबाद से मोबाइल चोरी कर पश्चिम बंगाल के रास्ते मोबाइल को भारत - बांग्लादेश की सीमा पर स्थित फरक्का भेज देता है। वहां इस गिरोह के कुछ बेहद टेक्निकल सदस्य एक्टिव हैं जो चोरी कर भेजे गए मोबाइल का आइएमइआइ नंबर और ऊपर का कवर बदलकर उसे बिल्कुल नया रूप दे देते थे। मोबाइल को फार्मेट मार कर उसे नए डब्बे में पैक कर दिया जाता है। जिसके बाद सभी मोबाइल को तस्करी के जरिए बांग्लादेश भेज दिया जाता था। जहां की दुकानों में यह मोबाइल खुलेआम बिकते हैं।

Edited By: Atul Singh