जागरण संवाददाता धनबाद : रेलवे में स्काउट एंड गाइड कोटा से होने वाली बहाली के जरिए युवाओं को रोजगार के अवसर मिल जाते थे। धनबाद समेत देशभर में ऐसे हजारों युवक हैं, जिनकी भर्ती स्काउट एंड गाइड कोटा से रेलवे में हुई है। लेकिन पिछले दो वर्षाें से स्काउट एंड गाइड कोटा से रेलवे में बहाली बंद है। इससे स्काउट एंड गाइड सदस्यों में काफी मायूसी है। दो साल तक इंतजार के बाद भी जब स्काउट गाइड कोटे से रेलवे में बहाली शुरू नहीं हुई तो उनके सब्र का बांध अब टूटने लगा है। गुरुवार को स्काउट एंड गाइड सदस्यों ने सांसद पशुपतिनाथ सिंह से मिलकर कोटा से रेलवे में बहाली को फिर से चालू कराने से संबंधित मांग पत्र सौंपा है। उन्होंने सांसद को बताया दो वर्ष के दौरान कोरोना काल में उन्होंने श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से आने वाले कामगारों की सेवा की। दूसरे यात्रियों की मदद में भी सक्रिय भागीदारी निभाई। रक्तदान शिविर, स्वच्छ भारत अभियान, धनबाद स्टेशन और रेलवे कालोनी की सफाई सफाई से जुड़े जागरूकता अभियान समय रेलवे की तमाम गतिविधियों में योगदान दिया। इसके बावजूद बहाली शुरू नहीं होने से उनमें काफी निराशा है।

सांसद बोले रेल मंत्री को लिखेंगे पत्र, संसद में भी उठाएंगे मामला

स्काउट एंड गाइड कोटा से दो वर्ष से बहाली बंद रहने के मामले में सांसद ने कहा कि उन्हें इस मामले की जानकारी नहीं थी। इस मामले को लेकर रेल मंत्री को पत्र लिख रहे हैं। साथ ही उन्होंने यह भरोसा भी दिया कि युवाओं से जुड़ा यह गंभीर मामला है और इसे संसद में भी उठाएंगे। सांसद से मिलने वाले स्काउट एंड गाइड सदस्यों में दीपा मुखर्जी, अभिषेक चौधरी, नीरज कुमार ठाकुर, शुभम राजहंस ,पिकू कुमार, तारकेश्वर गुप्ता, विशाल नंदी, आकाश और सोनू कुमार शामिल थे।

Edited By: Jagran