भौंरा: गौरखुंटी स्थित रेनबो ग्रुप ऑफ कंपनीज के चेयरमैन वरुण रवानी ओर डायरेक्टर विष्णु रवानी के आवासों पर मंगलवार सुबह नौ बजे रांची सीबीआइ की दो टीमों ने छापेमारी की। दोनों ठिकानों से मिले कागजात की जांच की जा रही है। सीबीआइ के अधिकारियों ने ग्रुप के पूर्व चेयरमैन धीरेन रवानी के धनबाद मिठू रोड आवास में भी छापेमारी की। मामले में सीबीआइ अधिकारी फिलहाल कुछ नहीं बोल रहे।

जानकारी हो कि वर्ष 2016 में शंकर रवानी ने पलामू में रेनबो मल्टी स्टेट को ऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड ब्रांच पर जनता की लाखों की राशि की लूट-खसोट कर वापस नहीं करने का आरोप लगाते हुए एसडीएम कोर्ट में केस दर्ज कराया था। एसडीएम ने मामले की जांच सीबीआइ को सौंप दी थी। इसी सिलसिले में सीबीआइ टीम ने छापेमारी की। सीबीआइ ने कुछ महीने पहले भी रेनबो मल्टी स्टेट के ऑपरेटिव सोसाइटी के डायरेक्टर को बुलाकर रांची में पूछताछ की थी।

इधर, रेनबो ग्रुप के डायरेक्टर विष्णु रवानी ने कहा कि रेनबो कंपनी की स्थिति ठीक नहीं है। हमलोग निवेशकों की जमा राशि लौटाने मे असमर्थ हैं। फिर भी धीरे-धीरे हमलोग राशि ग्रामीणों को लौटा रहे हैं।

सीबीआइ छापेमारी के बारे मे बताया कि सीबीआइ को ऐसा लगता है कि हमने रेनबो में जमा निवेशकों की राशि को नहीं लौटाकर कहीं जमीन-जायदाद या बैंक डिपोजिट तो नहीं कर लिया है। इसीलिए यह कार्रवाई की गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस