जागरण संवाददाता, धनबादः  कई बार ऐसा देखा जाता है कि एक त्यौहार मनाने की 2 तिथि सामने आ जाती है। जी हां इस बार भी रक्षाबंधन का त्यौहार मनाने को लेकर कई लोगों के मन में कंफ्यूजन है। क्योंकि इस बार पूर्णिमा तिथि का शुभ मुहूर्त दो दिन 11 और 12 अगस्त पड़ रही है।

ऐसे हर साल शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को भाई बहन का पवित्र रिश्ता वाला रक्षाबंधन का त्यौहार मनाया जाता है। इस पर्व में भाई की कलाई पर बहने रक्षा सूत्र बंदकर भाई की लंबी उम्र की प्रार्थना करती है। और भाई अपनी बहन की रक्षा तथा हर सुखदुख में साथ देने का वादा करता है। खड़ेश्वरी मंदिर के पुजारी राकेश पांडेय के अनुसार सावन माह के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि 11 अगस्त की सुबह 10:38 मिनट से शुरू होकर अगले दिन 12 अगस्त की सुबह 7:05 पर समाप्त होगी। लेकिन रक्षाबंधन का त्यौहार 12 अगस्त को मनाया जाएगा। क्योंकि 11 अगस्त को भद्रा काल की साया होने के कारण कुछ लोग रक्षा बंधन का पर्व 12 अगस्त को मनाएंगे।

इस बार रक्षाबंधन पर बन रहा है भद्र का साया

गोल्फ ग्राउंड स्थित खड़ेश्वरी मंदिर के पुजारी राकेश पांडेय का कहना है कि इस साल रक्षाबंधन का त्यौहार भद्र के साया में मनाया जाएगा। 11 अगस्त के दिन शाम 5:17 से 6:18 मिनट तक भद्र का साया रहेगा। इसके बाद से 6:18 मिनट से रात 8:00 बजे तक मुख भद्र रहेगा। इस दिन भद्र का साया पूर्ण रूप से रात 8:51 पर समाप्त होगा।

रक्षाबंधन को लेकर राखियों से पटा शहर का बाजार

भाई-बहन का पवित्र रिश्ता वाला रक्षाबंधन का त्यौहार को लेकर शहर के पुराना बाजार, हीरापुरा बाजार, सरायढ़ेला सहित अन्य बाजार पूरी तरह राखियों से पट चुका है। तरह तरह की आकर्षक राखिया उपलब्ध है। बच्चों के लिए डोरेमोन, छोटा भीम, शक्तिमान आदि की राखियां उपलब्ध कराई गई है।

Edited By: Atul Singh