संवाद सहयोगी, नावागढ़: धनबाद- कतरास चंद्रपुरा रेलमार्ग में फुलारीटांड रेलवे स्टेशन के पास ट्रैक पर जलजमाव की समस्या को दूर करने के लिए सोमवार को मरम्मत का कार्य शुरू हुआ। सुबह 9 बजे रेल अधिकारी मेटेनेंस टीम के साथ पहुंचे। रेलवे फाटक को 5 घंटा के लिए नौ से दो बजे तक बंद करने की बात कही गई थी, लेकिन तय समय पर काम पूरा नहीं हो पाया है। रेलवे फाटक के दोनों ओर सड़क पर वाहनों की लंबी कतार लग गई। हालांकि रेल परिचालन पर असर नही पड़ा है। फुलारीटांड़ रेलवे स्टेशन के समीप ट्रैक पर जल जमाव की समस्या काफी समय से बनी हुई थी। चार दिन पूर्व पहली बारिश के दौरान ट्रैक पर जल जमाव से फुलारीटांड़ स्टेशन का सिस्टम फेल हो गया था। गैंगमैन व बाहरी मजदूरों से मदद लेकर पानी निकासी कराया गया था। मौर्या एक्सप्रेस और मालगाड़ी के चालक को वाकीटाकी से निर्देशित कर मैनुअली परिचालन कराया गया था। इसी समस्या से निजात के लिए नाली निर्माण, रेल फाटक के अंदर का सड़क की मरम्मतीकरण, रेलवे ट्रैक की मरम्मती, सिग्नल आदि को दुरुस्त करने का कार्य किया जा रहा है। कार्य के दौरान लंबी दूरियों के वाहन को या तो घंटों इंतजार में खड़ा रहना पड़ा या अन्य रुट से निकलना पड़ा।

मौके पर एडीईएन, बी के पांडेय, पीडब्लूआई, संजीव कुमार चौधरी, आईओडब्लू विवेकानंद बासु, आरपीएफ के सब इंस्पेक्टर के एन सिंह मौजूद हैं। समाचार लिखे जाने तक कार्य प्रगति पर है। रेल फाटक के दोनों तरफ लंबी दूरियों के वाहन चालकों के पास इंतजार के अलावा दूसरा विकल्प नहीं है।

Edited By: Jagran