पुटकी, जेएनएन। लोयाबाद कोक प्लांट मुंडा पट्टी निवासी 60 वर्षीय रामचंद्र रजक की हत्या उनके नजदीकी रिश्तेदारों ने ही कर दी और शव को अपने ही घर में जमीन में दफना दिया। इसके बाद वहां सीमेंट से प्लास्टर कर सामान रखने का बॉक्स बना दिया गया गया था। 

मंगलवार देर रात को सूचना पाकर पुटकी थाना प्रभारी सरोज कुमार सिंह पुलिस बल के साथ लोयाबाद पावर हाउस इमामबाड़ा स्थित झारखंड विधुत बोर्ड के एक आवास में पहुंचे और जमीन के अंदर दफन शव को बरामद किया। मौके पर डीएसपी मुकेश कुमार, सीओ और स्थानीय मुखिया पति जयप्रकाश पासवान एवं अन्य लोग भी मौजूद थे। पुलिस ने आवास में रहने वाले दो भाई राजू रजक व कुंदन रजक को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस को सूचना मिली थी कि इनके आवास में रामचंद्र की हत्या कर शव को जमीन में दफन कर दिया गया है। ऊपर से सीमेंट का बॉक्स नुमा दीवार बना दी गई है। साथ ही उसके ऊपर कोयला और लकड़ी रख दिया गया है। इसके बाद पुलिस ने छापेमारी कर वहां से शव बरामद किया।

क्वारंटाइन सेंटर में बंद बेटे ने पुलिस को दी सूचना 

मृतक रामचन्द्र रजक मिस्त्री का काम करते थे। वे दो दिन से गायब थे। उनके दो पुत्र दो दिन पहले ही चेन्नई से लौटे हैं। ट्रेन से लौटने के बाद पीएमसीएच में जांच करने के बाद दोनों को पांडरकनाली पंचायत सचिवालय में क्वारंटाइन में रखा गया है। उन्हें पता चला कि उनके पिता गायब हैं तो उन्होंने पुटकी थाने को सूचना दी। इसके बाद पुलिस ने छानबीन कर शव को जमीन के अंदर से बरामद किया। पकड़े गए दोनों भाइयों का कहना है कि रामचंद्र रजक उनके रिश्ते के मौसा थे। लेकिन उनके पिता को उनसे समस्या थी। इसी कारण उनकी हत्या कर शव को जमीन में दफन कर दिया। 

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस