-- 60 दिनों में नहीं दिया गया, तो साढ़े आठ प्रतिशत ब्याज के साथ करना होगा भुगतान जागरण संवाददाता, धनबाद : राकेश कुमार महतो नामक एक शख्स ने इंटेक्स ट्रेंड लाइट मोबाइल खरीदा, जिसकी कीमत पांच हजार रुपये थी। वारंटी अवधि के दौरान पॉकेट में मोबाइल फट गया, जिससे राकेश के पैर को भी क्षति पहुंचा। राकेश ने भुवालका टेलिकॉम कतरास को सूचित कर मोबाइल क्षति का दावा मांगा, पर उनके द्वारा इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। उन्होंने सर्विस सेंटर को भी सूचना दी पर वहां भी कोई सुनवाई नहीं हुई, जिसके बाद राकेश ने भुवालका टेलिकॉम कतरास, इंटेक्स टेक्नालॉजी लिमिटेड नई दिल्ली, इंटेक्स टेक्नॉलाजी सिटी सेंटर के विरूद्ध उपभोक्ता फोरम में वाद दायर किया। वहीं मामले की सुनवाई करते हुए उपभोक्ता फोरम ने कहा कि विपत्री संख्या दो एवं तीन इस वाद में उपस्थित नहीं हुए, इसलिए उनके विरुद्ध एकपक्षीय सुनवाई का आदेश किया गया।

राकेश ने एसआर, डीआर दाखिल नहीं किया, जिससे इंटेक्स टेक्नालॉजी लिमिटेड नई दिल्ली, इंटेक्स टेक्नोलॉजी सिटी सेंटर वकालतन नोटिस नहीं भेजा गया और सीधे मुकदमा दायर किया गया। इसलिए राकेश वाद खर्च एवं परेशानी का अनुतोष पाने योग्य नहीं समझे जाते हैं। जहां तक मोबाइल ब्लॉस्ट करने की बात है परिवादी ने मोबाइल दिखलाया जो वास्तव में ब्लास्ट किया है। जो यह साबित करता है मोबाइल में मेनुफेक्च¨रग डिफेक्ट था। इसके निर्माता इंटेक्स टेक्नालॉजी लिमिटेड नई दिल्ली है, जिनके द्वारा सेवा में त्रुटि की गई है। फोरम उन्हें निर्देश देती है 60 दिनों के भीतर मोबाइल बदल कर दे या फिर मोबाइल का दाम पांच हजार रुपये राकेश को दे। समय सीमा के भीतर आदेश का पालन नहीं करने पर आदेश के 60 दिनों के बाद से वास्तविक भुगतान की तिथि तक साढ़े आठ प्रतिशत ब्याज की दर से ब्याज के साथ यह भुगतान करना होगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस