धनबाद, जेएनएन : कोरोना महामारी ने जिले में पांव पसार चुका है। प्रत्येक घरों में लोग संक्रमित हैं इसको देखते हुए सभी विद्यालय मानवता का परिचय देते हुए सिर्फ मासिक शुल्क ही लें और अभिभावकों पर किसी भी तरह का शुल्क को लेकर दबाव ना बनाएं।

झारखंड प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन जिला सचिव इरफान खान ने जिले के सभी सीबीएसई मान्यता प्राप्त तथा गैर मान्यता प्राप्त निजी विद्यालय से अनुरोध किया है। उन्होंने अभिभावकों से भी अनुरोध किया कि शिक्षकों कर्मियों को भी वेतन दिया जा सके इसके लिए मासिक शुल्क जमा करते रहे।

खान ने केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार से निजी विद्यालयों में कार्यरत शिक्षक शिक्षकेतर एवं सहायक कर्मियों को कोविड-19 के संक्रमण काल में उनके परिजनों के जीवन यापन के लिए आर्थिक सहयोग की भी मांग की है। जिससे कि निजी विद्यालय के शिक्षकों कर्मियों का भी जीवन यापन चलता रहे। एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री से यह मांग करते हैं कि आवश्यक सेवाओं को छोड़कर पूरे राज्य में संपूर्ण लॉकडाउन लगाया जाए ताकि कोरोना की चैन को तोड़ा जा सके।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप