देवघर, जेएनएन। President Kovind in Jharkhand राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अपने तीन दिवसीय झारखंड दौरे पर शनिवार को बाबा बैद्यनाथ का दर्शन करने देवघर पहुंचे। इस दौरान राष्ट्रपति की सुरक्षा में बड़ी चूक हुई। राष्ट्रपति कोविंद का कारकेड जब बाबा मंदिर से सर्किट हाउस की ओर जा रहा था, इसी दौरान एक कुत्ता अचानक बीच रोड पर आ गया। इसके कारण राष्ट्रपति के कारकेड में शामिल वाहनों की रफ्तार कम हो गई।

दरअसल, बाबा बैद्यनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना के बाद राष्ट्रपति का कारकेड सर्किट हाउस की ओर जा रहा था। इसी दौरान जूनियर डीएवी स्कूल के पास एक कुत्ता अचानक बीच रोड पर आ गया। कुत्ता कुछ दूर तक कारकेड के आगे-आगे दौड़ता रहा। जिसने सुरक्षा को लेकर चाक-चौबंद व्यवस्था की प्रशासन के सारे दावों की पोल दी। हालांकि, बाद में कुत्ता खुद सड़क के एक ओर मुड़कर भाग गया। इसी दौरान कारकेड में शामिल वाहनों की रफ्तार थोड़ी कम हुई, लेकिन कुत्ता के भाग जाने के बाद सड़क किनारे खड़े पुलिस अधिकारी व जवानों ने राहत की सांस ली।

इससे पहले यहां मंदिर प्रांगण में आगमन पर 11 वैदिक पुरोहितों ने शंखनाद कर राष्ट्रपति का स्वागत किया। इसके बाद षोड्शोपचार विधि से पूजा-अर्चना कराई गई। राष्ट्रपति ने शिव मंदिर और पार्वती मंदिर में पूजा की। पूजा के बाद राष्ट्रपति सर्किट हाउस के लिए रवाना हो गए। वहीं, राष्ट्रपति ने रास्ते खड़े लोगों का हाथ हिलाकर अभिवादन स्वीकार किया। परिसदन में भोजन के उपरांत उन्होंने कुछ देर विश्राम किया। इसके बाद 3:30 बजे हवाईअड्डा के लिए रवाना हो गए। यहां से वे शाम चार बजे रांची के लिए रवाना हो गये।

रांची में भी कारकेड में घुस गया था लहरिया कट बाइकर : शुक्रवार को रांची में भी राष्ट्रपति की सुरक्षा में बड़ी चूक हुई थी। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के आगमन के लेकर राजधानी में सुरक्षा के कड़े इंतजाम थे। कारकेड के लिए राजभवन सहित उनके गुजरने वाले सभी जोन हाई अलर्ट पर थे, लेकिन लहरिया कट मारते हुए सुरक्षा घेरे में घुसकर एक बाइक सवार ने सारे इंतजामों पर सवाल खड़े कर दिए। नियमों की धज्जियां उड़ाने वाले इस युवक ने अपनी बाइक पर लिख रखा था, "यस दिस इज माइ फादर रोड।" इस घटना ने पुलिस से लेकर राजधानी की ट्रैफिक व्यवस्था तक को सवालों के घेरे में ला दिया।