गोविदपुर : गोविदपुर क्षेत्र के पत्थर खनन स्थल गोल पहाड़ी के छंटनीग्रस्त मजदूरों के आंदोलन को दबाने के प्रयास व खदानों में मशीनीकरण के खिलाफ स्थानीय मजदूर गोलबंद हो गए हैं। शुक्रवार को मशीनीकरण से बेरोजगार हुए ग्रामीणों ने क्रशर कर्मी कौशल शर्मा की पिटाई कर दी। काम बाधित करने का प्रयास किया गया। खदान मालिक की सूचना पर गोविदपुर पुलिस घटनास्थल पहुंची और एक युवक को गाड़ी में बैठाकर थाना लाने लगी। इसका ग्रामीण ने विरोध किया। पुलिस को चारों तरफ से घेर लिया। इससे पुलिस जान बचाकर भागने को मजबूर हुई। इसके बाद बड़ी संख्या में पुलिस बल को घटनास्थल भेजा गया।

इधर शनिवार शाम गोल पहाड़ी क्रशर कर्मी कौशल शर्मा ने गोविदपुर थाना में आवेदन दिया कि वह खदान से उत्खनन करवा रहा था। इस बीच 50 की संख्या में अज्ञात लोग पहुंचे और उनके साथ मारपीट की। दूसरी ओर पुलिस की सूचना पर डीएसपी सरिता मुर्मू पहुंची। ग्रामीणों ने डीएसपी से कहा कि गोल पहाड़ी में राणा उदय प्रताप सिंह, बलराम अग्रवाल, जगदीश सिंह एवं असीत मंडल का पत्थर खदान लीज पर है। इन खदानों में पहले मंडरो, कंचनपुर, संग्रामडीह, पहाड़पुर, फुलरायडीह, पंडरियाटांड़, केंदुआटांड़, रामपुर, सुंदर पहाड़ी, गोरांगडीह आदि गांवों के 500 मजदूर काम करते थे। इससे सभी की रोजी-रोटी का जुगाड़ होता था। खदान से सटे हुए चार बड़े बड़े पत्थर क्रशर भी संचालित हैं। खदान मालिकों ने अधिक बचत के लिए मशीनीकरण शुरू किया। इसके कारण पिछले दो साल में 300 मजदूरों की छंटनी हो चुकी है। अब केवल 200 मजदूर काम करते हैं। इस बीच 150 मजदूरों की और छंटनी कर दी गई है। केवल 50 मजदूर रह गए। दूसरी ओर लॉकडाउन से घर में रह कर मजदूरों की स्थिति और खराब हो गई है। इसी मुद्दे को लेकर बेरोजगार ग्रामीणों ने खदान मालिकों से 150 छंटनीग्रस्त मजदूरों को फिर से काम देने की अपील की। डीएसपी ने पारस सिंह, बलराम अग्रवाल, जगदीश सिंह, असीत मंडल, विश्वजीत मंडल, मनोज मित्तल, गयासुद्दीन अंसारी आदि से वार्ता कर स्थानीय बेरोजगारों को पहले की तरह काम पर रखने की अपील भी की।

वर्जन

पुलिस मामले की तहकीकात कर रही है। गोलपहाड़ी में पुलिस का एक्शन गलत था। जब कोई मुकदमा ही दायर नहीं हुआ था तो किसी को बैठा कर थाना लाना उचित नहीं था।

सुरेंद्र कुमार सिंह, थाना प्रभारी, गोविंदपुर

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस