संवाद सहयोगी, गलफरबाड़ी : एग्यारकुंड उत्तर पंचायत के जामबनी गांव में पेयजल की घोर समस्या है। गांव में डीवीसी के सप्लाई पानी के लिए पाइपलाइन बिछाया गया है। बावजूद पानी नहीं मिलता। मुखिया की ओर से लगाए गए सोलर जलमीनार में बैटरी नहीं होने के कारण ग्रामीणों को पानी नसीब नहीं हो रहा है। इसके कारण जामबनी गाव के ग्रामीण त्राहिमाम कर रहे हैं। कई किमी दूर से पानी लाने को मजबूर हैं। दरअसल, जामबनी गांव में ज्यादा तर घर का खपरैल है। इस गांव के ग्रामीणों के लिए डीवीसी द्वारा सप्लाई पानी के लिए पाइप बिछाया गया है। उस पाइपलाइन में मुगमा पेयजल आपूर्ति के तहत पानी दिया जाता है। शुरू शुरू में यहां के ग्रामीणों को काफी पानी मिलता था, लेकिन अब एक एक बूंद के लिए तरस रहे हैं। ग्रामीण गलफरबाड़ी ओपी के समीप जीटी रोड पर बनाई गई जलमीनार और निरसा चिरकुंडा जीटी रोड पर बाबूलाल की दुकान के सामने से पानी भर कर लाने को मजबूर हैं। पानी नहीं मिलने से नाराज ग्रामीण पानी का बिल जमा नहीं कर रहे हैं। ग्रामीण कहते हैं कि पानी नहीं तो बिल कैसा।

मुखिया द्वारा सोलर जलमीनार जामबनी गांव में लगवाया गया है, परंतु उससे पानी नहीं मिलता है। सोलर जलमीनार का पाइपलाइन पास में ही बने चापाकल में लगा दिया गया है। लेकिन उसमें बैटरी नहीं है जिससे पानी चलता है। पास में ही द्वारिका भट्ठा द्वारा कभी-कभी बिजली दी जाती है तो पानी चलता है अन्यथा बंद रहता है। इसको लेकर जामबनी गांव के ग्रामीणों ने बहुत जल्द बड़ा आंदोलन करने की चेतावनी दी है।

-----------------

क्या कहते ग्रामीण :

कई महीने से जीटी रोड के किनारे जलमीनार से पानी ला रहे हैं वो एक समय सिर्फ सुबह मिलता है। शाम में पानी नहीं मिलता है।

तापस बाउरी, ग्रामीण

-----------------

पंचायत समिति सदस्य का कहना है कि गोपीनाथपुर के गांववाले पैसा देते हैं, इसलिए सिर्फ गोपीनाथपुर को ही पानी मिलेगा। आपलोगों को नहीं मिलेगा।

रवि सिंह, ग्रामीण

--------------------

पानी नहीं मिल रहा है। पानी का कनेक्शन हटा देंगे। जिस दिन से जलमीनार लगा उस दिन पंचायत के सभी प्रतिनिधियों ने फोटो खिंचवा लिया और बैटरी लेकर चले गए।

मीणा देवी, ग्रामीण