धनबाद, जेएनएन। चार फरवरी से धनबाद स्टेशन पर केरल व महाराष्ट्र से आने वाली तीन ट्रेनों की यात्रियों की कोरोना जांच होगी। इसके लिए धनबाद स्टेशन पर पांच ट्रू-नेट मशीन स्थापित की गई है। 50 वर्ष से ऊपर के यात्रियों को जांच रिपोर्ट आने तक स्टेशन के वेटिंग हॉल में ही रखा जाएगा। रिपोर्ट एक घंटे में आ जाएगी। इसके बाद निगेटिव आने पर घर भेजा जाएगा। वहीं 50 से नीचे के यात्रियों से सैंपल संग्रह करके उन्हें घर भेज दिया जाएगा, इस बीच यदि वह संक्रमित पाए जाते हैं तो उनके घर एंबुलेंस के साथ स्वास्थ्य विभाग की टीम जाएगी और संक्रमित मरीज को निर्मल महतो मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल के कोविड सेंटर में भर्ती कराया जायेगा।

धनबाद जिला प्रशासन ने कोरोना जांच का बताया प्लान

धनबाद के उपायुक्त कार्यालय के सभागार में संवाददाता सम्मेलन कर अपर समाहर्त्ता श्याम नारायण राम ने कोरोना जांच को लेकर प्लान की जानकारी दी। उन्होंने बता कि अभी महारा्ष्ट्र से मुंबई मेल और कोल्हापुर से दीक्षाभूमि आती है। वहीं केरल से अलेप्पी आती है। अलेप्पी में हर दिन 500-600 यात्री आते हैं। मुंबई मेल से प्रतिदिन 150 से 200 यात्री आते हैं। दीक्षाभूमि से रविवार (साप्ताहिक) 92 से 100 यात्री धनबाद स्टेशन पर उतरते हैं। इन सभी की जांच की जायेगी। इस माैके पर जिला आपदा प्रबंधन के संजय झा, जिला जन संपर्क अधिकारी ईश खंडेलवाल मौजूद थे।

दूसरे जिलों के यात्रियों की जांच उनके जिले में

धनबाद के अलावा दूसरे जिलों के यात्रियों की केवल बुखार की जांच इंफ्रारेड थर्मामीटर से होगी। इसके बाद उन्हें वाहन से उनके जिले भेज दिए जाएंगे। उनके जिले के सदर अस्पताल में कोरोना की जांच होगी। केवल धनबाद के लोगों को रेलवे स्टेशन पर जांच होगी। संक्रमित मरीज पाए जाने पर कोविड सेंटर में रखे जाएंगे। अ्भी जिले में मात्र एसएनएमएमसीएच के कोविड सेंटर में ही मरीज रखे जा रहे हैं। दूसरे जिलों को यात्रियों को निकाल द्वार साउथ साइड होगा। वहीं धनबाद के यात्रियों का निकास द्वार नोर्थ साइड होगा।

मरीज मिलने पर बनेगा कंटेनमेंट जोन

अपर समाहर्ता ने बताया कि 50 से कम उम्र के यात्रियों की सैंपल यदि पाजिटिव आती है, तो उन्हें घर से लाकर कोविड सेंटर में रखा जाएंगा। इसके साथ ही उनके इलाके में कंटेनमेंट जोन बनाएं जाएंगे। कांटैक्ट ट्रेसिंग की जाएगी।

बाहर से आने पर नहीं छुपाएं जानकारी, होगी कार्रवाई

महाराष्ट्र या केरल से आने वाले वैसे मरीज जो चुपके से धबबाद आ रहे हैं, वह इसकी सूचना जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग को जरूर दें। किसी भी परिस्थिति में अपनी जानकारी नहीं छुपाएं। ऐसा करने पर पकड़े जाने पर आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत कार्रवाई की जायेगी।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021