जागरण संवाददाता, धनबाद: झारखंड कर्मचारी चयन आयोग की ओर से इंटरमीडिएट (कंप्यूटर ज्ञान एवं हिंदी टंकण आहर्ता धारक पद हेतु) संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा-2017 से संबंधित राज्य स्तरीय पदों के लिए गैर अनुसूचित जिलों में अंतिम मेधा सूची का प्रकाशन अभी तक नहीं हुआ है। आयोग की ओर से 2017 में राज्य के कुल 3088 पदों के लिए विज्ञापन निकाला गया था। इसकी लिखित परीक्षा 2018 में 21 जनवरी, 28 जनवरी और चार फरवरी को आयोजित की गई थी। परिणाम 23 फरवरी 2019 को जारी हुआ। जिसके बाद लिखित परीक्षा में उत्तीर्ण सभी अभ्यर्थियों का कौशल प्रशिक्षण के तहत टंकण जांच परीक्षा, कंप्यूटर योग्यता एवं चालन परीक्षण एक जुलाई 2019 से आठ जुलाई 2019 तक रांची के विभिन्न केंद्रों पर चली। अभ्यर्थियों के प्रमाणपत्रों की जांच भी अगस्त 2019 में आयोग के कार्यालय में की गई। विज्ञापन प्रकाशन के चार वर्ष से अधिक समय बीत जाने के बाद भी इस परीक्षा की मेधा सूची अभी तक प्रकाशित नहीं की गई है। इससे अभ्यर्थियों में भारी रोष है। सूची प्रकाशन को लेकर पंचायत सचिव अभ्यर्थियों के प्रतिनिधिमंडल झरिया विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह से मिला। इस परीक्षा के लिए धनबाद से 100 से अधिक अभ्यर्थियों ने आवेदन कर रखा है। सभी ने विधायक से मांग की इस मामले में जल्द से जल्द हल निकलवाने का प्रयास करें। अभ्यर्थियों ने यह भी कहा कि गैर अनुसूचित जिलों की नियुक्ति प्रक्रिया जारी रखने में कोई भी वैधानिक अड़चन नहीं है। नियुक्ति प्रक्रिया में हो रही देरी एवं कोरोना वायरस से उत्पन्न वर्तमान परिस्थिति के कारण अभ्यर्थियों को आर्थिक और मानसिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। विधायक ने भी अभ्यर्थियों को आश्वस्त किया। मांग पत्र देने वालों में आरती पांडेय, संध्या कुमारी, पूनम, बबली, राजेश कुमार, कमलेश कुमार, प्रशांत सिन्हा, विकास कुमार रजक, नलिन कुमार शामिल थे।

Edited By: Atul Singh