पूर्वी टुंडी, जेएनएन। स्वच्छ भारत मिशन के तहत घर-घर इज्जत घर यानी शौचालय बनाए जा रहे हैं। सरकारी स्कूलों में भी शौचालयों का निर्माण हुआ है। शौचालयों के निर्माण से खुले में शौच से मुक्ति मिली है। यूं तो इस अभियान से सभी को फायदा मिला है। बीमारियों के फैलने की आशंका कम हुई है। अभियान से महिलाएं ज्यादा खुश हैं, कारण उन्हें अब शौच के लिए खुले में नहीं जाना पड़ता। अपनी इसी संतुष्टि को स्केच के जरिए व्यक्त किया है पूर्वी टुंडी के झारखंड आवासीय बालिका विद्यालय की बच्चियों ने। विद्यालय फतेहपुर परिसर में बने शौचालय की दीवारों पर छात्राओं ने सुंदर पेंटिंग बनाई है।

छात्राओं ने स्केच से बताया है कि शौचालय व स्वच्छता का हमारे समाज में क्या महत्व है। पेंटिंग में सबसे ऊपर लिखे स्लोगन से उनकी संतुष्टि झलकती है। लिखा है- अब बचेगी मेरी लाज, मेरे घर शौचालय आज। शौचालय के दीवारों पर सुंदर पेंटिंग करनेवाली इन छात्राओं का कहना है- समाज में स्वच्छता को लेकर सामाजिक संदेश पहुंचाना हमारा लक्ष्य हैं। छात्राओं को सप्ताह में दो दिन सोमवार एवं शुक्रवार को पेंटिंग शिक्षक बलियापुर के सुमन कुमार के द्वारा विद्यालय में सिखाया जाता है। वार्डन लुईस हेंब्रम व छात्राओं में एलिसा हेंब्रम, निरूपा कुमारी दा, मुस्कान खातून, रेखा कुमारी, निकिता टूडू, ज्योति मिंज, संगीता कुमारी मंडल ने इन छात्राओं की पेंटिंग कला को सराहा है। 

Posted By: mritunjay