धनबाद : झारखंड संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षा पर्षद की ओर से बीएड में नामांकन के लिए निर्धारित आवेदन तिथि सोमवार को समाप्त हो गई। इसके साथ ही बिनोद बिहारी महतो कोयलांचल विवि के हजारों छात्र छात्राओं ने बीएड के सत्र 2021-23 में नामांकन का अवसर खो दिया। विवि ने स्नातक फाइनल सेमेस्टर का रिजल्ट जारी नहीं किया था। उसकी लेटलतीफी का खामियाजा धनबाद और बोकारो के 10 हजार से अधिक छात्रों को भुगतना पड़ा। तिथि विस्तार का भेजा था प्रस्ताव, नहीं मिली मंजूरी :

बीबीएमकेयू के परीक्षा नियंत्रक डा. सुमन कुमार वर्णवाल ने तिथि विस्तार के लिए पर्षद को प्रस्ताव भेजा था। बताया गया था कि स्नातक अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा ली जा चुकी है। परीक्षाफल जारी करने में लगभग 20 दिन का समय लग सकता है। इससे बीएड में नामांकन करने को इच्छुक छात्र-छात्राएं आवेदन से वंचित रह जाएंगे। इसके मद्देनजर आवेदन तिथि विस्तार की जाए। सोमवार को आवेदन की अंतिम तिथि थी। पर्षद की ओर से तिथि विस्तार संबंधी कोई जवाब विवि को नहीं मिला है। धनबाद-बोकारो में 26 बीएड कालेज, 2650 सीटें :

बीबीएमकेयू के अधीन धनबाद और बोकारो में बीएड के 26 कालेज हैं। इनमें सरकारी और प्राइवेट मिलाकर बीएड की 2650 सीटें हैं। इन कालेजों में नामांकन के लिए 10 हजार से ज्यादा छात्र-छात्राएं आवेदन करते हैं। पर इस बार स्नातक का रिजल्ट जारी नहीं होने से छात्रों का आवेदन से वंचित रहना पड़ा। दूसरे विवि और पासआउट छात्रों को मिलेगा मौका : स्नातक में अपियरिग छात्र भी बड़ी संख्या में बीएड में दाखिला के लिए आवेदन भरते हैं। इस बार ऐसे छात्रों को मौका नहीं मिलेगा। पहले से पासआउट स्नातक और पीजी के छात्र नामांकन ले सकेंगे। दूसरे विवि और कालेज के छात्र जिनका परीक्षा परिणाम जारी हो चुका है, उन्हें भी धनबाद और बोकारो के बीएड कालेजों में नामांकन का अवसर मिलेगा।

Edited By: Jagran