धनबाद, जेएनएन। अब रेलवे के टिकट घर निजी हाथों में सौंपा जा रहा है। जी हां, रेलवे अब एक करोड़ से 10 करोड़ तक आमदनी वाले रेलवे स्टेशन को निजी हाथों में सौंपने जा रही है। एनएसजी-5 और एनएसजी-6 श्रेणी के स्टेशनों की टिकट खिड़कियों पर एसटीबीए यानी स्टेशन टिकट बुकिंग एजेंट बैठेंगे। अब तक यह जिम्मेदारी सहायक स्टेशन मास्टर के पास थी। इससे उन्हें एक साथ दोहरा काम करने में कठिनाई होती थी।

इसी के मद्देनजर रेलवे ने नई व्यवस्था बहाल करने का निर्णय लिया है। इस संबंध में रेलवे बोर्ड की निदेशक यात्री विपणन शैली श्रीवास्तव ने सभी जोन को आदेश जारी कर दिया है। बोर्ड से जारी आदेश के बाद पूर्व मध्य रेल ने अपने जोन के अधीन कई एनएसजी-5 और एनएसजी-6 श्रेणी के स्टेशनों पर एसटीबीए के लिए टेंडर भी जारी कर दिया है।

प्लेटफॉर्म और सीजन टिकट भी कर सकेंगे जारी : एसटीबीए जिस टिकट खिड़की पर बैठेंगे, वहां से गैर रियायती जनरल टिकटों के साथ प्लेटफॉर्म टिकट और सीजन टिकट भी जारी कर सकेंगे। सीजन टिकट का नवीकरण और वरिष्ठ नागरिकों के लिए रियायती टिकट जारी करने की भी अनुमति दी जाएगी।

रियायती टिकट और कैंसिलेशन के लिए अनुमति जरूरी : एसटीबीए रियायती टिकट तभी जारी कर सकेंगे, जब इसकी अनुमति सहायक स्टेशन मास्टर देंगे। रियायती टिकट के लिए काउंटर पर संबंधित कागजात दिखाने होंगे। साथ ही टिकट कैंसिल कराने के लिए भी सुविधा मिलेगी। पर इसके लिए भी स्टेशन मास्टर या सहायक स्टेशन मास्टर की अनुमति अनिवार्य होगी।

धनबाद रेल मंडल के इन स्टेशनों पर एसटीबीए : रखितपुर, चैनपुर, करमाहाट, केचकी, राय, भंडारीदह, करैला रोड, रिचुघुटा, चौधरीबांध, झारोखास, दिलवा, डुमरीविहार व चौबे।

रेलवे बोर्ड के गाइडलाइन के अनुसार, धनबाद रेल मंडल के अधीन एनएसजी-5 और एनएसजी-6 श्रेणी के स्टेशनों पर एसटीबीए की प्रक्रिया चल रही है। -अखिलेश कुमार पांडेय, सीनियर डीसीएम, धनबाद रेल मंडल

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस