धनबाद, जेएनएन। अगले साल नवरात्र में अगर आपकी हसरत वैष्णोदेवी, मैहर या विंध्याचल में मत्था टेकने की है तो टिकट बुकिंग में अब देर न करें। चैती नवरात्र भले ही मार्च के अंतिम सप्ताह में है, पर टिकटों की बुकिंग ने रफ्तार पकड़ लिया है।

मैहर और विंध्याचल की ट्रेनों में कुछ सीटें बची भी हैं, मगर जम्मूतवी एक्सप्रेस की थर्ड एसी में अब कंफर्म सीट मिलना मुश्किल है। इस ट्रेन में स्लीपर में अभी भी सीटें उपलब्ध हैं। यात्री चाहें तो सियालदह-जम्मूतवी हमसफर को भी विकल्प चुन सकते हैं।

25 मार्च से चैती नवरात्र, 23 से ट्रेनों में बढ़ेगी भीड़

इस साल 25 मार्च से चैती नवरात्र शुरू हो रहा है। तीन अप्रैल तक नवरात्र रहेगा। इसे लेकर 23 मार्च से ही ट्रेनों में भीड़ बढ़ जाएगी।

धनबाद से विंध्याचल व मैहर

12321 हावड़ा-मुंबई मेल

- स्लीपर, थर्ड एसी व सेकेंड एसी में 23 मार्च से सीटें खाली

22912 हावड़ा-इंदौर शिप्रा एक्सप्रेस

- स्लीपर, थर्ड एसी व सेकेंड एसी में 23 मार्च से सीटें खाली

धनबाद से जम्मूतवी

13151 कोलकाता-जम्मूतवी एक्सप्रेस

- 23 मार्च से स्लीपर में चंद सीटें, थर्ड एसी में वेटिंगलिस्ट और सेकेंड एसी में सिर्फ दो सीटें 

22317 सियालदह-जम्मूतवी हमसफर एक्सप्रेस

- 23 और 30 मार्च को 200 से ज्यादा सीटें खाली

हमसफर में सफर के लिए कम चुकाना होगा किराया

नवरात्रि के दौरान वैष्णोदेवी जानेवाले यात्रियों को हमसफर का कम किराया चुकाना होगा। पहले अन्य ट्रेनों के मूल किराए से इसका किराया 1.5 गुना अधिक था जो अब 1.3 गुना ही होगा। 2016 से चल रही इस ट्रेन में अभी सिर्फ थर्ड एसी के कोच ही हैं। अब इसमें स्लीपर कोच भी लगाए जाएंगे। रेलवे सियालदह-जम्मूतवी हमसफर में चार स्लीपर कोच जोडऩे की तैयारी कर रही है।

Posted By: Sagar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस