झरिया में गंभीर बिजली संकट जारी, सड़क पर उतरे लोग, अधिकारी गंभीर नहीं

झरिया : झरिया में गंभीर बिजली संकट जारी है। कई दिनों से लाखों लोग बिजली की लचर व्यवस्था के कारण त्राहिमाम कर रहे हैं। शुक्रवार को भी बिजली का आना-जाना रहा। गुरुवार की रात भी बिजली नहीं रहने से लोग करवटें बदलकर परेशान रहें। आश्चर्य की बात है कि बिजली अधिकारी नियमित बिजली आपूर्ति के प्रति तनिक गंभीर नहीं हैं। इससे लोगों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है। आक्रोशित झरिया वासियों ने सड़क पर उतरकर बिजली विभाग के प्रति आक्रोश जताया।

घंटा बजाकर अधिकारियों की सद्बुद्धि की प्रार्थना :

कार्यपालक अभियंता मनीष चंद्र का कहना है कि कोडरमा के प्लांट में मरम्मत कार्य के पूरा होते ही बिजली आपूर्ति सामान्य हो जाएगी। धनबाद निर्माण झरिया शाखा के लोगों ने पंचदेव मंदिर में शंख व घंटी बजा कर ईश्वर बिजली अधिकारियों को सद्बुद्धि देने की प्रार्थना की। लोगों ने कहा कि अधिकारी लोगों के धैर्य की परीक्षा नहीं लें। जरूरत पड़ने पर जोरदार आंदोलन किया जाएगा।

व्यवसायियों ने लगाया काला बिल्ला :

झरिया के व्यवसायियों ने भी काला बिल्ला लगाकर बिजली विभाग के खिलाफ मेन रोड में विरोध प्रकट किया। बिजली में सुधार नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी। मौके पर उपेंद्र गुप्ता, अमित साहु, शिवचरण शर्मा, श्रीकांत अंबष्ठ, अनूप साव, विष्णु त्रिपाठी, अरिंदम बनर्जी, मधुसूदन अग्रवाल, अरुण जायसवाल, रामश्रेष्ठ झा, अजय गुप्ता, अशोक बरनवाल, जितेन्द्र साव, वीरेंद्र केसरी, देवी बगाड़िया, संजय गुप्ता, फंटूस, संजय गुप्ता, राजू, बंसत अग्रवाल, नरेंद्र छावड़ा, अशोक चौरसिया, राजेश गुप्ता, पवन अग्रवाल आदि थे।

Edited By: Jagran