जागरण संवाददाता, बोकारो: बोकारो के चंदनकियारी प्रखंड में रहनेवाले गोल्डी मिश्रा ने गुजरात में चल रहे 36वें नेशनल गेम्स में गोल्ड मेडल जीता है। मंगलवार को आयोजित इंडियन राउंड 50 मीटर व्यक्तिगत तीरंदाजी प्रतियोगिता में गोल्डी ने यह पदक जीता है। इस जीत ने नेशनल गेम्स में झारखंड का परचम लहरा दिया है।

गोल्डी ने न सिर्फ बोकारो का, बल्कि पूरे झारखंड का मान बढ़ाया है। जीत की खबर पर बोकारो के उपायुक्त कुलदीप चौधरी ने गोल्डी से फोन पर बात कर उसे बधाई दी और भविष्य के लिए अग्रिम शुभकामनाएं दीं। उपायुक्त ने कहा कि गोल्डी की बोकारो वापसी पर जिला प्रशासन द्वारा भव्य स्वागत कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर तीरंदाजी प्रतियोगिता में गोल्डी ने राज्य और बोकारो को एक अलग पहचान दिलाई है। आज का दिन बोकारो के लिए सदैव महत्वपूर्ण रहेगा। उन्होंने गोल्डी के कोच महेंद्र करमाली को भी बधाई दी है।

[साथी प्रतिभागी के साथ (बाएं खड़े)गोल्‍डी मिश्रा]

बेटे को कामयाबी की सीढि़यां चढ़ाने को पिता ने छोड़ा घर

गोल्डी मिश्रा डे-बोर्डिंग तीरंदाजी सेंटर चंदनकियारी के प्रशिक्षक महेंद्र करमाली के देखरेख में तीरंदाजी का अभ्यास करते हैं। वह चंदनकियारी मुख्यालय स्थित ब्राह्मणटोला में एक मध्यमवर्गीय परिवार से हैं। पिता दुलाल मिश्रा पूजा-पाठ कर अपने परिवार का भरण-पोषण करते थे, लेकिन बेटे के प्रशिक्षण की वजह से आर्थिक बोझ बढ़ने पर उन्‍हें रोजगार के लिए अपना घर छोड़ना पड़ा। फिलहाल वह ओडिशा की किसी निजी कंपनी में कार्य कर रहे हैं, ताकि गोल्डी की मंजिल की राह में कोई अड़चन ना आए।

चंदनकियारी में जश्‍न का माहौल

इधर, गोल्डी के गोल्ड जीतने पर चंदनकियारी समेत पूरे बोकारो में जश्‍न का माहौल है। गोल्‍डी के स्‍वजनों और खेल प्रेमियों में उत्साह है। चंदनकियारी प्रखंड में राज्य सरकार द्वारा संचालित तीरंदाजी डे बोर्डिंग प्रशिक्षण केंद्र से जुड़े खिलाड़ियों एवं गोल्डी के साथी खिलाड़ियों में भी प्रसन्नता है। वर्तमान में गुजरात में चल रहे 36वें नेशनल गेम्स में बोकारो जिले से दो खिलाड़ी गोल्डी मिश्रा व अनु सिंह इंडियन राउंड तीरंदाजी प्रतियोगिता में झारखंड टीम का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं।

Edited By: Deepak Kumar Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट