नीरज दूबे, धनबाद: हाईकोर्ट के कड़े निर्देश बावजूद सुरेश सिंह हत्याकांड के नामजद आरोपित विधायक संजीव सिंह के चचेरे भाई शशि सिंह को फरार घोषित कर पुलिस अब भी अपना पिंड छुड़ाने की कोशिश कर रही है, जबकि हाईकोर्ट का सख्त आदेश है कि चार्जशीटेड सभी प्रकार के फरार आरोपितों को तत्काल गिरफ्तार किया जाए। शशि सिंह को फरार घोषित होने से संबंधित एक सप्ताह पूर्व सीआरपीसी की धारा 174 ए के तहत धनबाद थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। साथ ही शशि की फरारी से संबंधित जानकारी पुलिस मुख्यालय को भेजी गई है।

पिछले पांच साल में पुलिस ने शशि की तलाश में कई स्थानों पर दबिश दी, लेकिन उसे गिरफ्तार नहीं किया जा सका। पुलिस जब भी शशि की तलाश में बलिया गई, उससे पूर्व सूचना उस तक पहुंच गई। यही वजह है कि पुलिस शशि को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। पुलिस सूत्रों ने दावा किया है कि शशि जिस गोनिया छपरा गांव में रहता है, वह बैरिया थाना क्षेत्र में पड़ता है। स्थानीय पुलिस भी शशि को धनबाद पुलिस की गतिविधियों की जानकारी दे देती है। मालूम हो कि कोल कारोबारी सुरेश सिंह की हत्या 7 दिसंबर 2011 को हुई थी। घटना के बाद से ही नामजद आरोपित शशि सिंह फरार है। इस बीच पुलिस ने गिरफ्तारी वारंट कुर्की, इश्तेहार समेत सभी प्रकार की कागजी कार्रवाई कर चुकी है, जबकि फरार शशि काफी वक्त से बलिया में रहते हुए सुर्खियों भी बने। फरारी के दौरान ही शशि पिता भी बने। मेंशन से लेकर बलिया तक में मिठाइयां बटीं। यहां भी मेंशन के शुभचितंकों तक कुछ पुलिसकर्मियों को मिठाई मिली। इस बीच शशि सिंह के बलिया में होने की सूचना शहर में आग की तरह फैली लेकिन पुलिस ने कोई कदम नहीं उठाया।

दलान में रहता है शशि, करता है ठेकेदारी: बलिया गोनिया छपरा गांव में शशि सिंह रहकर विभिन्न व्यवसाय कर रहा है। सूत्रों के अनुसार ठेकेदारी के अलावा वह जमीन कारोबार तथा शराब के कारोबार में भी प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से शामिल है। सूत्रों के अनुसार गोनिया छपरा में वह अपने आवासीय परिसर में स्थित दलान में रहकर गुजारा कर रहा है।

Posted By: Deepak Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप