झारखंडधाम (गिरिडीह), जेएनएन। झारखंड के विभिन्न इलाकों से नाबालिग बच्चियों को देश के पश्चिमी राज्यों में विवाह के लिए खरीद-बिक्री की खबर आए दिन आती रहती हैं। इसी कड़ी में गिरिडीह जिले से एक खबर आई है। हालांकि यह थोड़ी अलग हटकर है। मां-बाप की किसी बात पर नाराज होकर लड़की घर से भाग निकली। वह कोडरमा रेलवे स्टेशन पहुंची। वहां वह गलत हाथों में पड़ गई। बहला-फुसलाकर उसे हरियाणा में एक युवक के हाथों शादी के लिए बेच दिया गया है। पुलिस ने लड़की को हरियाणा के मेहम थाना क्षेत्र से बरामद कर लिया है। साथ ही जिसके हाथ लड़की बेची गई थी, उस कथित पति को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। 

क्या है मामला

गिरिडीह जिले के हीरोडीह से बीते 24 मई को गायब किशोरी को पुलिस ने हरियाणा से बरामद किया। किशोरी को बहला फुसलाकर हरियाणा के एक युवक को शादी के लिए बेच दिया था। जहां किशोरी युवक के साथ शादी कर रह रही थी। पुलिस ने किशोरी के साथ उसके कथित पति को भी गिरफ्तार कर लिया है। सोमवार की शाम कोर्ट में किशोरी का बयान दर्ज किया गया। एसडीपीओ मुकेश महतो ने हीरोडीह थानो इसकी जानकारी दी है।

लड़की के पिता ने दर्ज कराई थी अपहरण की प्राथमकी

किशोरी को अगवा करने की शिकायत उसके पिता ने हीरोडीह थाने में दर्ज कराई थी। किशोरी घर से भागकर कोडरमा रेलवे स्टेशन चली गई। जहां वह अपराधियों के प्रलोभन और लालच में आ गई। यहां से उसे हरियाणा ले जाया गया तथा दीपक कुमार नामक युवक के हाथों बेच दिया गया।

हरियाणा के युवक ने बिहार के गया के मंदिर में की शादी

लड़की को हरियाणा के रोहत जिला के मेहम थाना क्षेत्र के निदिना ग्राम निवासी दीपक कुमार के हाथों बेचा गया था। दलालों ने रुपये लेकर लड़की को दीपक के हवाले किया। इसके बाद वह लड़की को लेकर बिहार के गया में गया। फिर एक मंदिर में शादी कर ली। अपहृत लड़की आठवीं कक्षा की छात्रा है। पुलिस ने लड़की को बरामद करने के साथ ही दीपक को गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ करने के बाद दीपक को जेल दिया गया।

Edited By: Mritunjay