धनबाद, जेएनएन। आठवीं की बोर्ड परीक्षा 11 फरवरी को है। इसके लिए जिले में कुल 104 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं, जिसमें 37339 छात्र शामिल होंगे। अमूमन यह देखा गया है कि परीक्षा के दौरान स्कूलों में मध्याह्न भोजन का संचालन नहीं किया जाता है। पिछले वर्ष भी परीक्षा के दौरान एमडीएम का संचालन नहीं हो सका था। हालांकि इस बार स्थिति बिल्कुल अलग है। स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के प्रधान सचिव अमरेंद्र प्रताप सिंह ने निर्देश जारी किया है कि जिस भी परीक्षा केंद्र पर परीक्षा होगी, वहां अनिवार्य रूप से दोपहर का भोजन बनेगा। परीक्षा देने आने वाले छात्रों को एमडीएम मिलेगा। जहां परीक्षा केंद्र नहीं है, उन विद्यालयों में भी एमडीएम का संचालन होगा। परीक्षा के उपरांत सभी परीक्षार्थी दोपहर का गर्म भोजन ग्रहण करने के बाद ही परीक्षा केंद्र से प्रस्थान करेंगे। 

रविवार को स्कूल खुलेंगे, एमडीएम भी बंटेगाः रविवार को सरस्वती पूजा है और सभी सरकारी स्कूलों में इसका आयोजन किया जाता है। सभी प्राथमिक एवं मध्य विद्यालय खुले रहेंगे। इसे देखते हुए प्रधान सचिव ने रविवार को भी मध्याह्न भोजन के संचालन का निर्देश दिया। डीएसई को यह सुनिश्चित कराना है। पूजा उत्सव के साथ-साथ बच्चों को विशिष्ट पकवान दिया जाएगा। 

परीक्षा संचालन के लिए नियंत्रण कक्ष का गठनः डीईओ डॉ. माधुरी कुमारी ने बताया कि आठवीं की बोर्ड परीक्षा सुचारू रूप से संपन्न कराने एवं अनुश्रवण के लिए जिला स्तर पर नियंत्रण कक्ष का गठन किया गया है। वरीय प्रभार में डीएसई और सदस्यों में एडीपीओ विजय कुमार, एपीओ मीतू सिन्हा एवं एपीओ प्रदीप रवानी होंगे। केंद्राधीक्षक किसी भी समस्या के लिए बीईईओ से संपर्क करेंगे। 

Posted By: mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस