धनबाद, जेएनएन। LIVE Coronavirus Dhanbad News Update पूर्व मध्य रेलवे के मंडल रेल प्रबंधक (DRM) धनबाद कार्यालय में काम करने वाली एक महिला की मंगलवार को तबीयत बिगड़ गई। महिला को इलाज के लिए मंडल रेल अस्पताल धनबाद में भर्ती कराया गया है। महिला की तबीयत बिगड़ने के बाद धनबाद रेल मंडल प्रबंधन सकते में आ गया है। महिला कोरोना पॉजिटिव रेलकर्मी के साथ ही डीआरएम ऑफिस में काम करती थी। इस कारण चिंता बढ़ गई है। 

18 अप्रैल को डीआरएम धनबाद के ऑफिस में काम करने वाला रेल ट्रैकमैन जांच में कोरोना पॉजिटिव निकला। रेलकर्मी के पॉजिटिव निकलने के बाद कार्यालय में उसके संपर्क में आने वाले रेलकर्मचारियों और अधिकारियों को क्वारंटाइन किया गया है। मंगलवार को जिस महिला की तबीयत बिगड़ी वह भी रेलवे के क्वारंटाइन सेंटर में रखी गई थीं। तबीयत बिगड़ने के बाद रेल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

दो पॉजिटिव केस मिलने के बाद युद्धस्तर पर हो रही स्क्रीनिंग 

कोरोना वायरस से 2 लोग संक्रमित मिलने के बाद धनबाद जिले में स्क्रीनिंग तेज कर दी गई। धनबाद में अब तक 483 लोगों का सैंपल लिया गया इसमें 282 लोगों का सैंपल नेगेटिव आया है जबकि 2 सैंपल पॉजिटिव आए हैं। बाकी सैंपल प्रतीक्षारत है। सोमवार को 389 लोगों की स्क्रीनिंग की गई। इसमें 330 लोगों को होम करंट टाइम करने की सलाह दी गई है वही इन लोगों के हाथों पर मुहर लगाई गई। दूसरी तरफ क्वारंटाइन में जाने के डर से लोग सर्दी-खांसी की बात छुपा भी रहे हैं।  धनबाद में मिले दो coronavirus positive patient को covid-19 hospital (BCCL Central Hospita) में भर्ती कर इलाज किया जा रहा है। इनमें एक कुमारधुबी (बाघाकुड़ी) का है तो दूसरा धनबाद रेल मंडल कार्यालय में कार्यरत कर्मचारी। 

सर्वे को 557 टीम गठित

धनबाद नगर निगम क्षेत्र में 55 वार्ड हैं। यहां आवासों की संख्या लगभग तीन लाख है। राज्य में कोरोना संदिग्धों की बढ़ती संख्या को देखते हुए नगर निगम ने घर-घर सैंपल सर्वे करने का निर्णय लिया। सभी 55 वार्डों में कोरोना संदिग्धों की तलाश के लिए नगर निगम की ओर से 557 सर्वे टीम गठित की गई है। इन्हें सैंपल सर्वे कर पता लगाना है कि कितने लोगों को सर्दी, खांसी, बुखार और सांस लेने में दिक्कत है। सर्वे टीम में शामिल सेविका, सहायिका और सहिया की मानें तो लोग कोरोना के डर से घर के बाहर ही नहीं निकल रहे हैं। दरवाजा खटखटाने पर पहले नाम और आने का कारण पूछते हैं। जब टीम कहती है कि निगम से हैं, सर्वे करने आएं तो जवाब सुनकर मना कर देते हैं। टीम के सदस्यों का कहना है कि यदि किसी को सर्दी-खांसी भी है तो क्वारंटाइन होने के डर से बता ही नहीं रहे हैं। लोगों को लग रहा है कि अगर इसका खुलासा कर देंगे तो क्वारंटाइन सेंटर भेज दिया जाएगा। 

प्रथम चरण के सर्वे पर उठे सवाल

सर्वे टीम ने अभी पहले चरण का ही सर्वे पूरा किया है। टीम पांच हजार घरों के सर्वे का दावा कर रही है। हर वार्ड के प्रत्येक घर तक अभी टीम के सदस्य नहीं पहुंच सके हैं, लेकिन शुरुआत रुझान बता रहे हैं कि सर्वे में लोग मदद नहीं कर रहे हैं। निगम के पदाधिकारी तो यह भी कहने से गुरेज नहीं कर रहे हैं कि सर्वे के लिए निकल कई टीमें घर से हर रिपोर्ट तैयार कर रही हैं। यानी प्रथम चरण के सर्वे रिपोर्ट पर भी सवाल उठने लगे हैं। इसलिए प्रथम चरण के सर्वे पर असंतोष भी जताया जा रहा है। नगर आयुक्त चंद्रमोहन कश्यप ने बकायदा निर्देश जारी कर वार्ड स्वयंसेवकों को इस रिपोर्ट की सत्यता जांच का जिम्मा सौंपा है। 

  • कोविड-19 मेडिकल बुलेटिनः 20 अप्रैल 2020
  • स्क्रीनिंग किए गए लोगों की संख्या : 389
  • होम क्वारंटाइन में रखे लोगों की संख्या : 330
  • स्टैंपिंग किए गए लोगों की संख्या : 330
  • क्वारंटाइन
  • सदर अस्पताल : 124
  • पीएमसीएच : 46
  • एसएसएलएनटी : 20
  • 20 अप्रैल को लिए गए सैंपल : 46
  • 20 अप्रैल तक लिए गए कुल सैंपल की संख्या : 483
  • 20 अप्रैल तक सैंपल का परिणाम प्राप्त : 284
  • 20 अप्रैल तक सैंपल का परिणाम प्रतिक्षारत : 199

 

Edited By: Mritunjay