धनबाद [ आशीष सिंह ]। जोक्स, चुटकुले और व्यंग्य के छोटे पद अक्सर हमारी हंसी बेझिझक बाहर निकालते हैं। दुनिया में हजारों किस्म के चुटकुले प्रचलित हैं। अक्सर चुटकुले हमारी हंसी की वजह बनते हैं। हंसी जीवन के लिए और चुटकुले हंसी के लिए अहम है। हंसी और चुटकुलों के इसी संबंध को समझते हुए एक जुलाई को अंतरराष्ट्रीय चुटकुला दिवस मनाया जाता है। इसे दुनिया में हंसी फैलाने के मकसद से बनाया गया है। सेंट्रल अस्पताल के डिप्टी सीएमओ डॉ.आलोक प्रियदर्शी भी इससे इत्तेफाक रखते हैं। डॉ. प्रियदर्शी बताते हैं कि हो-हो करते हुए हंसने से तंत्रिका तंत्र और पाचन तंत्र पर अच्छा प्रभाव पड़ता है। हा-हा, हा-हा की आवाज में जोर से हंसने से ब्लड सर्कुलेशन तेज होता है। हंसने से टी सेल्स की संख्या में वृद्धि होने से हृदय रोग की कम संभावना होती है। हंसने से अल्सर, आर्थराइटिस, स्ट्रोक, डायबिटीज आदि के प्रभाव में भी कमी आती है।

फिल्म जीने की राह की एक पंक्ति है - जमाने वालों किताब-ए-गम में खुशी का ठिकाना ढूंढो, अगर जीना है तो हंसी का बहाना ढूंढो। इन चीजों का मर्म धनबाद के लोग भी समझ रहे हैं। इसीलिए लॉफिंग थेरेपी यानी जोर-जोर से हंसने का चलन भी तेजी से बढ़ रहा है। लोग सुबह-सुबह मैदान में हंसी के ठहाके लगाने पहुंच रहे हैं। भूली एमपीआइ ग्राउंड में सिंटू कुमार, ब्रजेश सिंह, मानस रंजन,  हर दिन सुबह और शाम लॉफिंग थेरेपी से खुद को और दूसरों को हंसाने के लिए प्रेरित कर हैं।

हंसना जरूरी है। सांस बाहर की ओर छोड़ते समय हा-हा कर हंसने से शरीर के कई महत्वपूर्ण हिस्सों में रक्त संचार सुचारू रूप से होता है। हंसने से मन की शक्ति का अधिक से अधिक प्रयोग कर पाते हैं। पहले हंसी नहीं निकलती थी। इसे अपने अंदर से निकालने के लिए हम एक दूसरे को चुटकुले सुनाया करते थे। 

- ब्रजेश सिंह, भूली ई ब्लॉक

चुटकुले और व्यंग्य हंसाने का एक बड़ा जरिया है। लॉफिंग थेरेपी के लिए हम लोगों ने चुटकुलों का सहारा लिया। नेताओं और पति-पत्नी के रिश्ते वाले चुटकुले हम लोग अधिक सुनाते थे। अब तो एक-दूसरे को देखने भर से ही हंसी आने लगती है। हंसी जीवन के लिए और चुटकुले हंसी के लिए अहम है। 

- मानस रंजन पाल, भूली सी ब्लॉक

मानसिक तनाव कम करने के लिए हंसना बेहद जरूरी है। मानसिक तनाव से कई बीमारियां होती हैं। हाइपर टेंशन, ब्लड शुगर, किडनी, आंख आदि की बीमारी। खुद को तनाव मुक्त रखेंगे तो आपके आसपास के लोग भी तनावमुक्त रहेंगे। इसे कम करने में हंसना कारगर उपाय साबित होता। हंसने के लिए तरीका कोई भी हो सकता है। रात को हास्य योग का अभ्यास करने से सभी चिंताएं मिट जाती हैं और नींद अच्छी आती है। हंसने से सकारात्मक ऊर्जा का विकास होता है। हंसना भी एक योग है। हंसते समय दिमाग तनावमुक्त हो जाता है। 

- डॉ.अलोक प्रियदर्शी, डिप्टी सीएमओ केंद्रीय अस्पताल

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस