संस, पंचेत : बीसीसीएल सीवी एरिया के सी पैच आउटसोर्सिंग का काम जमीन के अड़ंगा की वजह से दो माह से बंद है।इसके कारण सीवी एरिया का घाटा बढ़ता जा रहा है। दहीबाड़ी सी पैच के लिए 8.90 लाख टन कोयला का टेंडर विष्णु ट्रांसपोर्ट कंपनी को मिला था जिसमें लगभग 2.50 हजार टन ही कोयला कंपनी निकाल पाई । बाकी जमीन संबंधी फैसले लेने में विभागीय असफलता के कारण नहीं निकाल पाया।

28 सितंबर 2020 को कंपनी इस कंपनी ने सी पैच में कार्य आरंभ किया । उसे 18 माह का काम मिला था जिसमें से मुश्किल से 10 माह ही काम चल पाया । अब इसके पास चार माह ही शेष बचा हुआ है । परियोजना शुरू होने के पहले 66.48 एकड़ जमीन की जरूरत थी जिसमें बीसीसीएल की 52.85 एकड़, सरकारी भूमि 2.49 एकड़ व प्राइवेट जमीन 11.14 एकड़ लेना था।

लेकिन सीवी एरिया ना तो परियोजना शुरू होने के पूर्व भूमि अधिग्रहण कर पाई और ना ही परियोजना शुरू होने के एक साल बाद । हालात यह है कि 11 एकड़ में सिर्फ रामदेव राय की जमीन का अधिग्रहण व भुगतान हो पाया। हालांकि नियोजन अभी बाकी है। वहीं प्रबंधन द्वारा विस्थापित सुबोध राय को कॉमर्शियल दर पर चार गुणा भुगतान का वायदा के कारण बाकी लोग भी 4 गुणा पर भुगतान को अड़े हुए है। इसके कारण परियोजना 28 सितंबर से बंद पड़ा है। जमीन की समस्या के कारण सीवी एरिया की दामागोड़िया आउट सोर्सिंग भी बंद है। यदि प्रबंधन जमीन समस्या को नहीं सुलझा पाया है तो इसका दूरगामी प्रभाव पड़ सकता है।

Edited By: Atul Singh