धनबाद: धनबाद व बोकारो से वेल्लोर इलाज कराने गए दर्जनों लोग वहा फंस गए हैं। लॉक डाउन के कारण यह लोग होटलों में रुके हैं। लोगों के पास पैसे भी खत्म हो रहे हैं। ऐसे में, उन्हें काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। हीरापुर निवासी श्रीकुमार अपने पिता के इलाज के लिए गए थे। अब उनके पास पैसे खत्म हो गया है। इसी तरह कई अन्य फंसे हुए हैं। लोगों ने जिला प्रशासन धनबाद-बोकारो और मुख्यमंत्री से गुहार लगाई है, ताकि सकुशल घर आ सके।

बोकारो से गए लोगों को भारी परेशानी: बोकारो से वेल्लोर जाने वाले लोगों को लॉकडाउन में घरों में रहना पड़ रहा है। कुछ दिन पूर्व बोकारो के बारी को-ऑपरेटिव कॉलोनी से मनोज मोदी इलाज के लिए गये थे। उन्हें हृदय रोग से परेशान थे। इलाज के बाद अब बोकारो आना चाहते थे, लेकिन होटल में रहना पड़ रहा है। उनके पुत्र आनंद चौरसिया, मनोज मोदी के भाई संतोष चौरसिया व पत्‍‌नी राधा देवी भी वेल्लोर में ही हैं। हर दिन हजार से दो हजार खर्च आ रहा है। उनके बगल में ही बोकारो के दर्जनों लोग हैं, सभी ने इसके लिए जिला प्रशासन व मुख्यमंत्री से गुहार लगायी है। होटल वाले ले रहे हैं मनमाना किराया: धनबाद के श्री कुमार ने बताया कि पहले होटल वाला प्रतिदिन 200 रुपये की जगह अब तीन से चार सौ रुपये लेने लगे हैं। सबसे अधिक परेशानी भोजन को लेकर हो गई है। खाना भी महंगा मिल रहा है। जेब में पैसे न बचने से रहना मुश्किल हो रहा है। सबसे ज्यादा मरीज हीरापुर उसके आसपास के ही हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस