धनबाद, जेएनएन। शहर के सिटी सेंटर से अपहृत वासेपुर की 26 वर्षीय युवती नूरी अर्शी को पुलिस सरायढेला थाना क्षेत्र के वृंदावन कॉलोनी के एक मकान से सोमवार को सकुशल बरामद कर लिया। पुलिस ने युवती के परिजनों को उसके बरामदगी की सूचना दे दी है। फिलहाल उससे थाना में पुछताछ की जारही है। हालांकि युवती कुछ भी स्पष्ट नहीं बता पा रही है। इस मामले में तीन मई को युवती के परिजनों ने मामले की लिखित शिकायत धनबाद थाने में की थी। अपहृत युवती की मां शहनाज फातमा ने पुलिस को दिए घटना की लिखित शिकायत में बताया था कि वह 2 मई को अपने 26 वर्षीय बेटी नूरी अर्शी के साथ सिटी सेंटर आई थी। उन्हें रांची का रहने वाला राजेश प्रसाद नामक युवक मिलने के लिए बुलाया था।

रांची के युवक पर अपहरण का आरोपः शिकायतकर्ता के अनुसार आरोपित उन्हें किसी काम में उलझा कर उनकी बेटी को बहला-फुसलाकर फरार हो गया। उन्होंने अपनी बेटी से फोन पर संपर्क करना चाहा, लेकिन संपर्क नहीं हो पाया। थक-हारकर परिजनों ने पुलिस से अपनी बेटी की  सुरक्षित घर वापसी की गुहार लगाई थी। लिखित शिकायत मिलने के बाद पुलिस मामले की जांच में जुटी थी। बता दें कि शहनाज फातिमा की मुलाकात रांची के रातू रोड निवासी राजेश प्रसाद से कुछ दिनों पूर्व रांची में हुई थी, जब वे अपने पति  तकिउल हसन के साथ किसी काम के सिलसिले में गई थी। उनके द्वारा पूर्व में लिए गए बैंक लोन के बारे में जानकारी मिलने पर राजेश प्रसाद ने लोन माफ करवाने का प्रलोभन दिया था। इसके बाद उसका परिवार में आना जाना हो गया था। इसी बीच वह उनकी बेटी के संपर्क में आया। दो मई की दोपहर सिटी सेंटर में मिलने की बात कहकर मां-बेटी को बुलाया गया था। इसके बाद आरोपित ने मौका देख कर बेटी का अपहरण कर लिया था। युवती के बरामदगी के बाद पुलिस अब आरोपी राजेश प्रसाद की तलाश कर रही है। इसके लिए युवती से पूछताछ जारी है।

पुलिस को संदेह है कि यह प्रेम प्रसंग का मामला है और युवती  स्वेच्छा से आरोपित युवक के साथ गई थी। आरोपित ने ही उसे सरायढेला थाना क्षेत्र के वृंदावन कॉलोनी के एक किराये के मकान में ठहराया था। पुलिस युवती से मिले सूचना का सत्यापन करने में जुटी है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: mritunjay