संवाद सहयोगी, लोयाबाद : शुक्रवार दिन करीब 11 बजे कनकनी में कैंप कार्यालय बनाने के लिए जमीन समतल कराने आई रामअवतार आउटसोर्सिग कंपनी के अधिकारियों को कड़ा विरोध का सामना करना पड़ा। ग्रामीण और राम- रहीम के समर्थकों ने उन्हें खदेड़ दिया। काम बंद कर अधिकारी वहां से मशीन लेकर चलते बने। कंपनी के सूरज सिंह सहित अन्य अधिकारी एक जेसीबी मशीन लेकर कोलियरी कांटा घर के पीछे पहुंचे। जमीन समतल कराने का काम शुरू किया गया। इस बात का पता चलते ही अरूण चौहान के नेतृत्व में सैकड़ों की संख्या में महिला-पुरुष तथा रामेश्वर तुरी के नेतृत्व में राम रहीम के समर्थक वहां पहुंच गए। इसके बाद उन्होंने कंपनी का काम बंद करवा दिया और अपनी मांगों की समर्थन में जमकर नारेबाजी किया। उनका कहना था कि जब तक कंपनी प्रबंधन विस्थापितों के लिए सुरक्षित और सुविधायुक्त पुनर्वास, नियोजन व मुआवजा सहित अन्य मुद्दों पर बातचीत नहीं करती है, तब तक उन्हें यहां काम करने नहीं दिया जाएगा। कंपनी को काम करना है तो पहले ग्रामीणों की हक की बात करे और स्थानीय लोगों को रोजगार की गारंटी दे। इसके बाद ही कंपनी को यहां काम करने दिया जाएगा। विस्थापित ग्रामीणों तथा शिक्षित बेरोजगारों को नजरअंदाज कर कोई भी कंपनी यहां पर काम नहीं कर सकती है। विरोध करने वालों में सरस्वती देवी, पुनिया देवी, अनीता देवी, शीला देवी, अन्नू देवी, दिनेश भुईंया, शिबू मंडल, सोनू चौहान, गौतम रजक, शिबलू खान'', अंकी सिंह, मुकेश साव, गोल्डन चौहान, नंदन चौहान, मुकेश भुईंया, सन्नी भुईया, पिटू चौहान, सतेंद्र चौहान, संतोष चौहान, रंजीत चौहान आदि शामिल थे।

Edited By: Jagran