धनबाद, जेएनएन। पेट्रोलियम पदार्थो के मूल्य वृद्धि के विरोध में सोमवार को विपक्ष का भारत बंद धनबाद में कुछ जोर नहीं दिखा पाया। अलबत्ता बंद के दौरान एक मसाला फिल्म की तरह सब कुछ देखने को मिला-एक्शन, एंटरटेनमेंट और रोमांच वैगरह-वगैरह।

बंद समर्थक जोर-जबरदस्ती नहीं करें इसके लिए धनबाद पुलिस-प्रशासन ने पूरी तैयारी की थी। यहां बंद के दौरान रेलवे स्टेशन पर राजधानी एक्सप्रेस को राजनीतिक दलों द्वारा अपनी उपस्थिति दिखाने की परंपरा रही है। ऐसा न हो इसके लिए एसडीएम राज महेश्वर और रेल एसपी आशुतोष शेखर सुबह-सुबह धनबाद रेलवे स्टेशन पर मुस्तैद हो गए। बंद कराने वाले स्टेशन के अंदर घुस नहीं पाये। धनबाद जिला कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष रवींद्र वर्मा ने मनईटांड में सड़क पर टायर जला आगजनी की। दुकानें बंद कराने निकले तो पुलिस पकड़कर थाने लाई। साथ में उनके समर्थक भी थे। बंद के दौरान पुलिस हिरासत में लिए गए 482 आंदोलनकारियों को शाम को छोड़ दिया गया।

धनबाद थाने में हुई कचौड़ी-जलेबी पार्टी : जैसे-जैसे कांग्रेसी सड़क पर निकल रहे थे पुलिस उन्हें पकड़ थाने में बैठा रही थी। धनबाद थाने में जिलाध्यक्ष ब्रजेंद्र प्रसाद सिंह और कार्यकारी अध्यक्ष रवींद्र वर्मा के साथ दर्जनों की संख्या में कांग्रेसियों को दिन भर रखा गया। उन्हें भूख लगी तो कचौड़ी-जलेबी पार्टी हुई। कार्यकारी अध्यक्ष वर्मा की दुकान से ही कचौड़ी-जलेबी मंगाई गई। सबने जमकर कचौड़ी-जलेबी उड़ाई। कांग्रेस अध्यक्ष ब्रजेंद्र प्रसाद सिंह ने दावा किया कि बंद ऐतिहासिक रहा।

पूर्व मंत्री फोटो खिंचवा चलते बने : बंद के दौरान पूर्व मंत्री कांग्रेस नेता मन्नान मल्लिक ने सिर्फ फोटो खिंचवाने तक अपने को सीमित रखा। वह अपनी गाड़ी से रणधीर वर्मा चौक पहुंचे। लूंगी पहने हुए थे। समर्थकों के साथ फोटो खिंचवाया और चलते बने।

Posted By: Jagran