धनबाद, जेएनएन। Jharkhand Assembly Election 2019 झामुमो ने भाजपा पर पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष सह नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन के बयानों को तोड़-मरोड़ कर पेश करने का आरोप लगाया है। झामुमो धनबाद जिला कमेटी ने कहा है कि विधानसभा चुनाव में अपनी हार से भाजपा हताश है। इसलिए हेमंत सोरेन के भाषणों को धार्मिक रंग देने का प्रयास किया जा रहा है।

महिला सुरक्षा को लेकर झामुमो जिला प्रवक्ता अरूनव सरकार ने कहा कि भाजपा के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर, स्वामी चिंमयानंद जैसे नेताओं पर बलात्कार के आरोप हैं। भाजपा के शासन में बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने मिहिजाम की रैली में जिस प्रकार से बयानबाजी की वह उनकी हताशा को दर्शाता है।

झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने मुख्यमंत्री रघुवर दास पर जाति सूचक गाली देने का आरोप लगाते हुए गुरुवार की शाम दुमका के एससी-एसटी थाना में लिखित आवेदन देकर कार्रवाई की मांग की। हेमंत ने खुद एसडीपीओ पूज्य प्रकाश को आवेदन दिया। आवेदन के साथ उन्होंने एक समाचार पत्र की कङ्क्षटग दी, जिसमें उनके आरोप को दर्शाती हुई खबर प्रकाशित हुई है।

मिहिजाम में सीएम के चुनावी सभा पर विवाद

आवेदन में लिखा है  कि 18 दिसंबर को मुख्यमंत्री ने जामताड़ा जिले के मिहिजाम में चुनावी सभा को संबोधित करते वक्त उनके उपनाम को जाति सूचक गाली दी। उन्होंने पुलिस से मामला दर्ज कर सुसंगत धाराओं के तहत कार्रवाई करने की मांग की।

राज्य के मुख्यमंत्री की ऐसी भाषा से सभी मर्माहत

हेमंत ने कहा कि मुख्यमंत्री कई बार सदन से लेकर संताल परगना की सभाओं में उनके लिए अपशब्दों का उपयोग कर चुके हैं, जो बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। राज्य के मुख्यमंत्री की ऐसी भाषा से सभी मर्माहत हैं। नेता प्रतिपक्ष के पद पर रहने के बावजूद उन्हें आज कानून की मदद लेनी पड़ रही है।

आवेदन के आधार पर मुख्यमंत्री के खिलाफ होगी कार्रवाई

दुमका एसडीपीओ पूज्य प्रकाश ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की ओर से लिखित आवेदन मिला है। जिसमें मुख्यमंत्री रघुवर दास पर जातिसूचक गाली देने का आरोप लगाया है। आवेदन के आधार पर सुसंगत धारा के तहत मामला दर्ज आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Sagar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस