आशीष अंबष्ठ, धनबाद: गांव की सरकार चुनने के लिए पहले चरण में बंपर वोटिंग हुई। दोपहर बाद तीन बजे तक अधिकतर केंद्रों पर मतदान समाप्‍त हो चुका है। हालांकि इसके बाद भी कुछ बूथों के बाहर मतदाताओं की लंबी लाइनें लगी थीं। मतदान के बाद मत पेटियों को सील कर कोयला नगर स्थित नेहरू कांप्‍लेक्‍स में जमा कराया जा रहा है।

नक्सल प्रभावित इलाकों में शांतिपूर्ण चुनाव से जिला प्रशासन के चेहरे खिले हैं। जिले के तीन प्रखंड तोपचांची, पूर्वी टुंडी और टुंडी में मतदान समाप्त होने के बाद 3:00 बजे तक कंट्रोल रूम को जो रुझान मिले हैं, उसने जिला प्रशासन का उत्‍साह बढ़ाया है। प्रचंड गर्मी के बावजूद इन तीन प्रखंडों में पड़े वोटों की वजह से लोग यह मान रहे कि गांव की सरकार चुनने के लिए बुलेट का जवाब मतदाताओं ने बैलेट से देने का काम किया है। हालांकि जिला प्रशासन को मत का प्रतिशत 85% तक जाने का आकलन था, लेकिन यह आंक‍ड़ा 80 फीसद के ऊपर नहीं जा सका।

पहले चरण में धनबाद में तीनों प्रखंडों को मिलाकर कुल 54 पंचायतों में चुनाव हुआ। इस चरण में जिला परिषद की छह सीटों के लिए कुल 46 उम्मीदवार मैदान में हैं तो पंचायत समिति सदस्य की 64 सीटों पर 236 प्रत्याशी अपना भाग्य आजमा रहे हैं। वहीं मुखिया पद के 54 सीटों और वार्ड सदस्य के 450 सीटों के लिए उम्मीदवार ताल ठाेक रहे हैं। इनके भाग्य पर 641 मतदान केंद्रों पर मतदाताओं ने अपनी मुहर लगाई। पहले चरण में पंचायत समिति के कुल सात लोग निर्विरोध चुने जा चुके हैं। वहीं वार्ड सदस्य के लिए यह संख्या 236 रही। मुखिया और जिला परिषद के हर पद के लिए वोट डाले गए, जबकि 100 से ज्यादा जगहों के वार्ड सदस्य के पद नामांकन नहीं होने की वजह से रिक्त रह गए हैं।

मतदान के साथ ही पहले चरण में 1568 प्रत्याशियों की तकदीर मत पेटी में बंद हो चुकी है। तोपचांची में 326,

टुंडी में 203 और पूर्वी टुंडी में 112 मतदान केंद्रों पर शांतिपूर्ण मतदान होने का दावा जिला प्रशासन की ओर से किया गया है। मतदान समाप्‍त होने की सूचना कंट्रोल रूम को दे दी गई है। कलस्टर दंडाधिकारी द्वारा कंट्रोल रूम को सूचित किया जा रहा है।

पहले चरण में मतदाता सुबह से ही मतदान करने को लेकर काफी उत्साहित दिखे। जैसे-जैसे समय बीतता गया, बूथों पर मतदाताओं की कतार लंबी होती चली गई। नक्सल प्रभावित क्षेत्र के तीनों प्रखंडों के सभी बूथों पर जिला प्रशासन की पैनी नजर थी। स्वयं जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह उपायुक्त संदीप सिंह व वरीय पुलिस अधीक्षक संजीव कुमार सहित वरीय पदाधिकारी तीनों प्रखंडों में संवेदनशील व अति संवेदनशील बूथों पर निरीक्षण करते देखे गए।

Edited By: Deepak Kumar Pandey