धनबाद, जेएनएन। झारखंड कांग्रेस में विवाद बढ़ता जा रहा है। इस बार जामताड़ा से कांग्रेस विधायक व झारखंड प्रदेश के कार्यकारी अध्यक्ष इरफान अंसारी ने बागी तेवर दिखाया है। उन्होंने कहा कि अगर झारखंड विकास मोर्चा (JVM) के नेता प्रदीप यादव को पार्टी में शामिल किया जाता है तो वे पार्टी पद से इस्तीफा दे देंगे। उन्होंने प्रदीप को रिजेक्टेड माल बताया। साथ ही कहा कि जेवीएम से मांडर विधायक बंधु तिर्की को कांग्रेस में शामिल किए जाने से कोई एतराज नहीं हैं।

इरफान अंसारी ने कहा कि प्रदीप यादव अल्पसंख्यक विरोधी हैं। उन्होंने कहा कि प्रदीप ने बहुत से अल्पसंख्यकों को जेल भेजवाया है, उनमें से कई अभी भी जेल में हैं। उन्होंने उनके पिता पूर्व सांसद फुरकान अंसारी को भी जेल भेजवाया था। वे मुस्लिमों पर गोली भी चलवा चुके हैं। अंसारी ने कहा कि जो बाबूलाल मरांडी का नहीं हुआ वो कांग्रेस का क्या होगा। ये जहां जाते हैं पार्टी तोड़ देते है।  

सोनिया-राहुल को अधेरे में रखा गया : विधायक ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस से बिना विमर्श किए सोनिया गांधी और राहुल गांधी से उन्हें मिलवाया गया है। आलाकमान और प्रदेश प्रभारी को प्रदीप यादव के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है। उन्हें अधेरे में रखा गया है। इसलिए सभी आला नेताओं को उनके बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी। इसके बाद भी अगर उनको कांग्रेस में शामिल किया जाता है तो वे कार्यकारी अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे देंगे।

बंधु तिर्की का कांग्रेस में किया स्वागत : उन्होंने यह कि कहा कि वे कांग्रेस के सिपाही हैं और विधायक रहते हुए काम करते रहेंगे। हालांकि उन्होंने बंधु तिर्की का कांग्रेस में स्वागत किया। कहा कि वे एक सेक्युलर नेता हैं। इरफान ने कहा कि तिर्की भी नहीं चाहते हैं कि प्रदीप की कांग्रेस भी इंट्री हो, क्योकि उनकी पृष्ठभूमि सभी को मालूम है। प्रदीप यादव ने ही विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के खिलाफ जामताड़ा से अल्पसंख्यक उम्मीदवार उतारा था, ताकि इरफान अंसारी को हरा दिया जाए।

प्रदीप और बंधु ने गुरुवार को दिल्ली में की थी सोनिया-राहुल से मुलातकात : प्रदीप यादव और बंधु तिर्की ने गुरुवार को दिल्ली में सोनिया गांधी और राहुल गांधी से मुलाकात की थी। इस दौरान उनके साथ कांग्रेस प्रभारी आरपीएन सिंह भी थे। वहीं, मुलाकात के बाद बंधु ने कहा कि वे कांग्रेस में शामिल होने दिल्ली आए थे, जिसकी घोषणा वो रांची में करेंगे। हालांकि, शुक्रवार को रांची में प्रदीप ने कहा कि वे कांग्रेस में शामिल नहीं हुए हैं। प्रदीप ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी से अपनी मुलाकात को शिष्टाचार मुलाकात बताया। 

जेविएम ने विधायक दल के नेता के पद से हटाया : इधर, जेवीएम ने शुक्रवार को प्रेसवार्ता कर जानकारी दी कि प्रदीप यादव को झारखंड विकास मोर्चा के विधायक दल के नेता के पद से हटा दिया गया है। इस संबंध में स्पीकर रवींद्र नाथ महतो को सूचित कर दिया गया है।

Posted By: Sagar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस