बाघमारा, जेएनएन। झारखंड विधानसभा चुनाव- 2019 के दाैरान धनबाद जिले के बाघमारा विधानसभा क्षेत्र में राजनीतिक महाभारत देखने को मिलेगा। इसका ट्रेलर दिखने लगा है। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने जोहार जनआशीर्वाद यात्रा के तहत बाघमारा विधानसभा क्षेत्र में भाजपा विधायक ढुलू महतो के साथ शुक्रवार को काफी समय दिया। इसके अगले ही दिन 19 अक्टूबर को पूर्व मंत्री जलेश्वर महतो के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने पदयात्रा कर जोहार यात्रा का जवाब दिया। भाजपा विधायक ढुलू महतो पर जमकर हमला किया।

बाघमारा में आतंक और बेरोजगारी के लिए ढुलू जिम्मेदारः भाजपा की जोहार जन आशीर्वाद यात्रा के एक दिन बाद शनिवार को पूर्व मंत्री जलेश्वर महतो के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने बाघमारा में पदयात्रा की। सैकड़ों लोग लूतीपहाड़ी से चलकर हरिणा चौक पहुंचे। यहां सभा को संबोधित करते हुए जलेश्वर ने बाघमारा में बिगड़ी कानून व्यवस्था, बेरोजगारी, पलायन और कोलकर्मियों को हाईपावर कमेटी का वेतन नहीं दिलाने के लिए विधायक ढुलू महतो को जिम्मेवार ठहराया। कांग्रेस के कार्यकाल में मजदूरों की खुशहाली के साथ अपने विधायकी के कालखंड में बाघमारा क्षेत्र में हुए विकास को गिनाया।

12 हजार के बदले तीन हजार में मजदूरों को करना पड़ रहा संतोषः जलेश्वर ने कहा कि अगर जनता का आशीर्वाद मिला तो बेरोजगारी दूर कराने के साथ भयमुक्त वातावरण भी देेंगे। यहां रोजगार की कमी नहीं है। रोजगार की कमी रहती तो यहां के विधायक के करोड़ों के मालिक नहीं बन जाते। हाईपावर कमेटी द्वारा निर्धारित वेतनमान आउटसोर्सिंग कर्मियों को नहीं मिल रहा है। भूस्वामियों की जमीन हड़पी जा रही है। कोयला, बालू सहित सभी प्रकार के कारोबार पर एकाधिकार चल रहा है। बेनीडीह व केसरगढ़ साइडिग का हवाला देते हुए कहा कि यहां ठेका मजदूरों को पहले 12 हजार रुपये मिलता था, उनको अब तीन हजार रुपये में संतोष करना पड़ रहा है। पिछले 10 वर्षो से बाघमारा में आतंक का वातावरण हो गया है। इसे समाप्त करने के लिए जनता को आगे आना होगा।

पदयात्रा में लगनदेव यादव, राहुल महतो, बलराम महतो, अमित महतो, सुमित महतो, बासकीनाथ लाल, गुड्डू रवानी, धनेश्वर ठाकुर, रवींद्र नाथ पांडेय, महादेव महतो, विकास सिंह, भोला नापित, राजन महतो, संतोष रजवार, बासु रवानी, माणिक महतो, अमित महतो, आनंद सिंह, श्रवन कुमार आदि थे।

जलेश्वर पहले ओपी लाल से फरिया लें : अपने उपर लगे आरोपों पर बाघमारा विधायक ढुलू महतो ने कहा कि जलेश्वर महतो पहले ओपी लाल से फरियाएं। जिसने उन्हें कांग्रेस में लाया, आज वे दूसरे की तरफदारी कर रहे हैं। वह बताएं कि अपने दस साल के मंत्रित्वकाल में कितने लोगों को रोजगार दिया, कितना पलायन रोका। कर्मियों को हाईपावर कमेटी का वेतनमान नहीं मिल रहा है तो आंदोलन क्यों नहीं कर रहे हैं। क्या उनमें आंदोलन की क्षमता खत्म हो गयी है। जिसे वेतन नहीं मिल रहा है उसे मेरे पास भेजें, हम दिलाएंगे। आरोप लगाना आसान है, लेकिन उसे साबित करना बड़ी बात है। उनमें हिम्मत है तो आरोपों को साबित करें।

Posted By: Mritunjay

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप