जागरण संवाददाता, धनबाद : अगले 15-20 दिनों में झारखंड में मानसून दस्तक दे देगा। मानसून के दौरान ट्रेनों का परिचालन प्रभावित ना हो इसे लेकर रेलवे ने अभी से तैयारी शुरू कर दी है। मानसून पेट्रोलिंग को लेकर आदेश जारी कर दिया गया है। पिछले साल धनबाद रेल मंडल में आंधी बारिश के दौरान कई बार भूस्खलन से रेल परिचालन प्रभावित हुआ था। दिल्ली से रांची जा रही राजधानी एक्सप्रेस का इंजन कोडरमा गया के बीच भूस्खलन के कारण पटरी से उतर गया था। कोडरमा हजारीबाग टाउन के बीच भूस्खलन से रेलवे ट्रैक पर चट्टान गिर गए थे जिससे मालगाड़ी दुर्घटनाग्रस्त होने से बाल-बाल बच गई थी। पिछली घटनाओं से सबक लेकर इस बार रेलवे मानसून से निपटने की व्यापक तैयारियां कर रही है।

क्या क्या होगा

  •  रेलवे ट्रैक के किनारे पेड़ों का सर्वे किया जाएगा। तेज आंधी बारिश के दौरान ओवरहेड तार को प्रभावित ना करें या रेलवे ट्रैक पर ना गिर जाए। इसे लेकर पेड़ों की कटाई छटाई शुरू की जाएगी।
  • प्रभावित रेल खंडों पर बोल्डर, बालू और सीमेंट के खाली बोरे स्टॉप किए जाएंगे।
  • बोल्डर , पत्थर, गिट्टी डस्ट मालगाड़ियों में लादकर रखा जाएगा ताकि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों या भूस्खलन वाले क्षेत्रों में अगर मिट्टी का कटाव भू धसान हुआ तो तत्काल राहत कार्य शुरू कराए जा सकेंगे।
  • दुर्घटना राहत यान, दुर्घटना राहत मेडिकल यान को तैयार रखा जाएगा। इंजीनियरिंग विभाग के साजो सामान, मोटर ट्रॉली को भी चालू कंडीशन में रखा जाएगा ताकि मानसून के दौरान घटना होने पर तत्काल घटनास्थल पर पहुंचकर राहत कार्य शुरू कराया जा सके।
  • भारतीय मौसम विभाग से जारी होने वाले मौसम बुलेटिन और चेतावनी के अनुसार स्टेशन मास्टर, ट्रैक मैन, इलेक्ट्रिकल व सिग्नल एंड टेलीकॉम विभाग के कर्मचारियों को अलर्ट मैसेज भेजा जाएगा।
  • अधिकारियों की टीम बारिश से प्रभावित होने वाले क्षेत्रों का दौरा करेगी और आवश्यक सुधार कराएगी
  • खतरनाक रेल खंड, ब्रिज का इंजीनियरिंग विभाग के अधिकारी निरीक्षण करेंगे और बारिश के दौरान ट्रेनों का परिचालन प्रभावित ना हो इसके लिए आवश्यक कार्रवाई करेंगे।

Edited By: Atul Singh