जागरण संवाददाता, धनबाद: कल एक दिसंबर है। यानी साल 2022 के आखिरी महीने का पहला दिन। रेल यात्रियों के लिए दिसंबर की शुरुआत अहम है, क्योंकि एक दिसंबर से रेलवे कई बदलाव करने जा रही है। धनबाद से खुलने वाली ट्रेन से फर्स्ट एसी छीनने के साथ ही स्लीपर और थर्ड एसी के कोच में रेलवे कटौती करेगी। हालांकि इसके साथ ही महाकाल के दरबार तक जानेवाली ट्रेन में फर्स्ट एसी की सुविधा बहाल भी करेगी। धनबाद से टाटा को सीधे जोड़ने वाली ट्रेन का बीच के स्टेशन पर ठहराव भी शुरू होगा।

धनबाद -पटना इंटरसिटी में फर्स्ट एसी की बुकिंग बंद, दूसरे कई बदलाव भी

धनबाद से पटना जानेवाली पटना इंटरसिटी एक्सप्रेस में एक दिसंबर से फर्स्ट एसी कोच नहीं जुड़ेगा। रेलवे ने इस ट्रेन में फर्स्ट एसी की बुकिंग बंद कर दी है। इतना ही नहीं, इस ट्रेन में पहले की तुलना में अब पूरे चार कोच कम होंगे। थर्ड एसी और स्लीपर के भी दो-दो कोच हटा लिए जाएंगे। अभी एक फर्स्ट एसी, एक सेकेंड एसी, पांच थर्ड एसी, नौ स्लीपर और छह जनरल व दो एसएलआर कोच के साथ चलने वाली इस ट्रेन में 24 कोच हैं। एक दिसंबर से एक सेकेंड एसी, तीन थर्ड एसी, सात स्लीपर, छह जनरल और दो एसएलआर समेत 20 बोगियां ही जुड़ेंगी। दिन में चलने वाली ट्रेन में एसी के यात्रियों की संख्या कम होने के बहाने रेलवे ने ट्रेन से स्लीपर के दो कोच भी छीन लिये हैं।

कल से शिप्रा एक्सप्रेस में फर्स्ट एसी, हावड़ा से तीन दिसंबर से जुड़ेगा

बंगाल, झारखंड और बिहार के यात्रियों को महाकाल के दरबार तक ले जानेवाली हावड़ा-इंदौर शिप्रा एक्सप्रेस में एक दिसंबर से फर्स्ट एसी कोच जुड़ जाएगा। यात्रियों के लिए यह सुविधा पहली बार शुरू हो रही है। इंदौर से चलने वाली ट्रेन में फर्स्ट एसी एक दिसंबर और हावड़ा से तीन दिसंबर से जुड़ेगा। दोनों ओर से फर्स्ट एसी की बुकिंग भी शुरू हो गई है। धनबाद से उज्जैन तक पहुंचने के लिए फर्स्ट एसी के किराए के रूप में 3955 रुपये चुकाने होंगे। पहले दिन से ही फर्स्ट एसी में वेटिंग शुरू हो गई है।

पाथरडीह को अभी भी रेड सिग्‍नल, दो से बाराभूम में रुकेगी धनबाद-टाटा स्वर्णरेखा

धनबाद से टाटा को जोड़ने वाली स्वर्णरेखा एक्सप्रेस दो दिसंबर से बंगाल के पुरुलिया जिले के बाराभूम स्टेशन पर भी रुकेगी। दक्षिण पूर्व रेलवे के प्रस्ताव पर रेलवे बोर्ड की मुहर लग गई है। 13301 धनबाद-टाटा स्वर्णरेखा एक्सप्रेस सुबह 9:50-9:52 तक बाराभूम स्टेशन पर रुकेगी। वापसी में 13302 टाटा-धनबाद स्वर्णरेखा एक्सप्रेस का शाम 5:03-5:05 तक बाराभूम में ठहराव होगा। धनबाद से खुलने के बाद पाथरडीह में इस ट्रेन का इंजन बदलता है और तकरीबन 20 मिनट तक ठहरती है। बावजूद पाथरडीह में वाणिज्यिक ठहराव को रेलवे की हरी झंडी नहीं मिल सकी है। रेलवे ने पाथरडीह स्टेशन पर इस ट्रेन का टिकट जारी करना भी बंद कर दिया है। नतीजा, हर दिन बड़ी संख्या में यात्री बेटिकट ही इस ट्रेन की सवारी कर रहे हैं। 

Edited By: Deepak Kumar Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट