धनबाद, जेएनएन: लंबे सफर पर निकले यात्रियों के लिए खान-पान सेवा बेहद जरूरी है। पर कोरोना काल में ट्रेनों में पैंट्री कार होने के बाद भी खाने-पीने की चीजें नहीं नहीं मिल रही हैं। यहां तक कि राजधानी एक्सप्रेस जैसी वीआइपी ट्रेनों में भी सिर्फ डिब्बाबंद खाना और पानी की बोतल ही मिल रहे हैं।

ऐसे में यात्रियों को या तो घर से खाना साथ ले जानापड़ रहा है या फिर दूसरे विकल्प तलाशने पड़ रहे हैं। मगर अब यात्रियों की इस समस्या का काफी हद तक हल ढूंढ़ निकाला गया है। रेलवे ने ट्रेनों में ऑनलाइन खान-पान सुविधा  फिर से शुरू करने की अनुमति दे दी है। कोई भी यात्री अपने मोबाइल से खाना ऑर्डर कर सकते हैं।

उनकी डिमांड के मुताबिक पसंदीदा व्यंजन उनकी सीट तक पहुंच जाएगा। इसे लेकर रेलवे बोर्ड के निदेशक टूरिज्म एंड कैटरिंग (सामान्य)सुमित सिंह ने आदेश जारी कर दिया है। इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन (आइआरसीटीसी) यात्रियों को ऑनलाइन खान-पान सेवा उपलब्ध कराएगी। 

 उपलब्धता के अनुसार मिलेगी खान-पान सुविधा 

मोबाइल से खाना बुक करने वाले यात्रियों को रेलवे स्टेशनों पर उपलब्धता के अनुसार खान-पान सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। सुविधा तभी मिल सकेगी जब संबंधित स्टेशन पर आइआरसीटीसी स्टाफ मौजूद रहेंगे। 

 कोविड नियमों का करना होगा पालन 

ऑनलाइन खान-पान सुविधा केलिए भी कोविड नियमों का पालन करना होगा। केंद्र सरकार, राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन के नियमों के अनुसार ही यात्रियों को ऑनलाइन खाना मिल सकेगा। फिलहाल चुनींदा स्टेशनों के लिए इस खास सुविधा को बहाल करने की अनुमति दी गई है। 

 22 मार्च से बंद थी सुविधा 

ट्रेनों में खान-पान सुविधा पिछले साल 22 मार्च से बंद है। बाद में एक-एक कर शुरू हुई ट्रेनों में डिब्बाबंद खाना और पानी के बोतल की सुविधा बहाल की गई। अब ऑनलाइन खान-पान की भी अनुमति दे दी गई है। इससे लंबी दूरी की ट्रेनों में सफर करने वालेयात्रियों को काफी राहत मिल जाएगी। 

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021