धनबाद, जेएनएन। Indian Railways अब एक के पीछे दूसरी ट्रेन भेजने के लिए इंतजार नहीं करना होगा। ट्रेनों के बेहतर और सुरक्षित परिचालन के लिए धनबाद-रांची वाया गोमो वाले मार्ग पर गोमो से तेलो के बीच अत्याधुनिक आईबीएच सिग्नल लगाया गया है। ड्यूअल न्यू जेनरेशन सेल एक्सल काउंटर वाले आईबीएच सिग्नल के लग जाने से अब एक सेक्शन में दो ट्रेनें चल सकेंगी। इससे समय की बचत होगी और रेलवे को समय पालन में भी मदद मिलेगी। इसके लग जाने से अब गोमो से ट्रेन निकलने के बाद तेलो से गुजरते ही पीछे की ट्रेनों के लिए सिग्नल थ्रू हो जाएगा। इससे पीछे वाली ट्रेन भी आईबीएच तक आ जाएगी। अगर लाइन क्लीयर नहीं है, तो वहीं रुक जायेगी और क्लीयर होने पर आगे बढ़ जाएगी।

क्या है आईबीएच सिगनल प्रणाली : आईबीएच आधुनिक सिग्नल प्रणाली है। यह दो स्टेशनों के बीच लगाया जाता है। दो स्टेशनों के बीच लंबी दूरी रहने पर यह सिग्नल प्रणाली काफी कारगर होती है। जिस सेक्शन पर आईबीचए प्रणाली नहीं है। वहां पर एक स्टेशन से दूसरे स्टेशन पार करने के बाद बैक रिपोर्ट मिलने के बाद ही पीछे की गाड़ियों को चलाया जाता है। आईबीएच सिग्नल प्रणाली वाले सेक्शन में स्टेशन से बैक रिपोर्ट मिलने का इंतजार नहीं करना होगा।

इस बारे में धनबाद मंडल में वरीय मंडल संकेत एवं दूरसंचार अभियंता अजित कुमार ने बताया कि बुधवार को आईबीएच सिग्नल लगाने का काम पूरा कर लिया गया। यह आधुनिक सिग्नल प्रणाली है। इससे गोमो-तेलो के बीच ट्रेन चलाने में आसानी होगी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021