धनबाद, जेएनएन : भाजपा नेता सतीश सिंह हत्याकांड में सतीश गुप्ता उर्फ गांधी को पुलिस अब तक नहीं ढूंढ़ पाई है। कुछ दिन पूर्व पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि सतीश गुप्ता उर्फ गांधी कोलकाता में हैं लेकिन कोलकाता चुनाव तथा कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर पुलिस टीम गांधी की तलाश में कोलकाता तक नहीं गई। इस बार कोरोना की बढ़ते कहर को लेकर पुलिस भी काफी सतर्क है।

संक्रमण का फैलाव ना हो इसके लिए पुराने मामले में पुलिस फिलहाल अपराधियों की धरपकड़ से परहेज कर रही है। खासकर जिला छोड़कर दूसरे जिला जाने में संकोच करती है। पुलिस रिकार्ड में भाजपा नेता सतीश सिंह की हत्या में सतीश गुप्ता उर्फ गांधी तथा विकाश सिंह मुख्य साजिशकर्ता है, पर घटना के तकरीबन साल भर बीतने को हैं। पुलिस दोनों को अब तक नहीं ढूंढ़ पाई है।

महत्वपूर्ण बात तो यह है कि  सतीश सिंह हत्याकांड में मुख्य साजिशकर्ता विकास सिंह का आवास शहर के प्रमुख चौराहा सिटी सेंटर के समीप अंबिकापुरम में है, पर पुलिस गिरफ्तारी को लेकर अब तक क्या प्रयास की है, यह सर्व विदित है। गिरफ्तारी से ज्यादा पुलिस विकास सिंह को सरेंडर करने का दबाव बनाने की कोशिश कर रही है। यह वजह है कि 24 फरवरी को पुलिस ने विकास सिंह तथा सतीश साव के घर कुर्की का इस्तेहार तामिला किया। उस दिन से एक माह पूरे हो चुके हैं पर घर की कुर्की नहीं कर पाई है। विकास सिंह तथा सतीश गुप्ता के धनबाद से फरार रहने का पुलिस दावा कर रही है। लोकेशन ढूढ़ने की बात करती है पर कार्रवाई के नाम टॉय- टॉय फीस है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021