धनबाद, जेएनएन : आंशिक लॉकडाउन चल रहा है। ऐसे में दोपहर दो बजे बाद सभी दुकानें बंद हो जा रही हैं। लोग जरुरी सामानों की खरीदारी सुबह और दोपहर में कर रहे हैं। बाजारों में सभी सामान उपलब्ध होने के बावजूद भी खाने-पीने की चीजों की कीमत क्षेत्रवार अलग-अलग है। पूरे जिले में सबसे महंगा राशन का सामान झरिया में बिक रहा है, जबकि केंदुआ-करकेंद के बाजारों में वहीं चीजें पांच से दस रूपये कम कीमत पर बिक रही हैं।

बात झरिया के बाजार की करें तो मूंग दाल 110 रुपये किलो, मसूर दाल 75, चना दाल 75, अरहर दाल 105, उदड़ दाल 115 और चना 70 रुपये प्रति किलो हैं। वहीं केंदुआ व करेंद में इनकी कीमतें काफी कम हैं। मूंग और अरहर दाल 100 रुपये की दर से बिक रही हैं, वहीं चना दाल 72 से 75 रुपये किलो, अरहर दाल एक सौ रुपये और मसूर दाल 78 रुपये किेलो बिक रही है। बात सरसों तेल की करें तो ईंजन और पोस्टमास्टर ब्रांड के सरसों तेल 170 से 177 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है, जबकि अन्य ब्रांड के तेल 165 से 167 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। अब धनबाद की करें तो केंदुआ-करकेंद के मुकाबले यहां के दर में दो से तीन रूपये का अंतर है। सरसों तेल प्रिंट रेट पर बिक रही है।

मुनाफोखाेरी की संभावना : आंशिक लॉकडाउन के दौरान खाद्य सामग्री की कोई किल्लत नहीं है। कृषि बाजार चैंबर ऑफ कामर्स ने इस मामले पर साफ कर दिया है कि सभी प्रकार के राशन एवं खाद्य पदार्थों के ट्रक प्रतिदिन आ रहे हैं। ऐसे में छोटे और क्षेत्र के दुकानदोरों की ओर से मुनाफाखोरी के कारण उपरोक्त चीजों के दामों में मनमानी कीमत वसूल की जा रही है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021