धनबाद : पथरी होने के बाद ऑपरेशन के लिए पहले तो कई दिनों तक एचआइवी पीड़िता को चक्कर काटना पड़ा, अब ऑपरेशन के बाद महिला की जान पर बन आई है। दरअसल, ऑपरेशन के बाद सिंदरी निवासी एचआइवी पीड़िता की याददाश्त कमजोर हो गई है। ऑपरेशन के बाद कुछ दिनों तक पीड़िता ठीक थी, लेकिन डिस्चार्ज से पहले उसकी स्थिति काफी गंभीर हो गई। इसके बाद उसे फिर से भर्ती कराया गया है। पीड़िता इमरजेंसी के सर्जिकल आइसीयू में भर्ती है। सूचना पर अधीक्षक डॉ. एचके सिंह व डॉक्टरों की टीम ने जाकर महिला की जांच की और उचित इलाज करने का निर्देश दिया।

पहले डॉक्टरों ने किया था दु‌र्व्यवहार : 21 अगस्त को एचआइवी पीड़िता पथरी का ऑपरेशन कराने पीएमसीएच आई थी। लेकिन ओपीडी में चिकित्सकों ने अलग से ऑपरेशन किट नहीं होने की बात कहकर रिम्स जाने को कह दिया था। इसकी शिकायत रांची में सचिव को की गई। सचिव के संज्ञान आने के बाद पीएमसीएच रेस हुआ। इसके बाद छह सितंबर को उसका पथरी का ऑपरेशन हुआ था।

महिला को कुछ याद नहीं

आइसीयू में भर्ती महिला को कुछ याद नहीं है। अ‌र्द्ध बेहोशी की हालत में महिला बड़बड़ा रही है। खुद को भी नहीं पहचान रही है। महिला की हालत में कोई सुधार नहीं है। इससे परिजन भी चिंतित है। धीरे-धीर प्री-कोमा की स्थिति में जा रही है। महिला का ऑपरेशन सफल रहा था, लेकिन डिस्चार्ज होने के समय उसकी तबीयत खराब हो गई। इसके बाद फिर से भर्ती कराया गया है। स्थिति खराब है, परिजनों का बताया गया है। हमलोग कोशिश में लगे हैं।

डॉ. एचके सिंह, अधीक्षक, पीएमसीएच।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप